जब कलेक्टर तक पहुंची बात तो हिली भाजपा पार्षद की जमीन

जब कलेक्टर तक पहुंची बात तो हिली भाजपा पार्षद की जमीन

Mohit Panchal | Publish: May, 07 2019 10:59:33 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

नेतृत्व वाली सहकारी संस्था पर लगा गड़बड़ी का आरोप, कार्रवाई की भनक लगी तो ताबड़तोड़ ईंट व्यापारी सहकारी साख संस्था ने चुकाए पैसे, जमा पैसे नहीं मिलने पर पीडि़त सदस्य ने कलेक्टर से की थी शिकायत

इंदौर। भाजपा पार्षद के नेतृत्व वाली एक सहकारी साख संस्था पर गड़बड़ी के आरोप लगे। एक सदस्य ने कलेक्टर से शिकायत कर परिवार की एफडी और जमा पैसा दिलाने की मांग की गुहार लगाई और बैंक के कर्ताधर्ताओं पर सख्त कार्रवाई करने को कहा। इस बात की भनक लगते ही ताबड़तोड़ पीडि़तों को चेक दे दिए गए, जिसके लिए वे छह साल से चक्कर लगा रहे थे।

धार रोड गंगा कॉलोनी निवासी लक्ष्मीनारायण पिता बाबूलाल प्रजापत ने पिछले दिनों कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव को शिकायत की थी, कि ईंट व्यापारी सहकारी साख संस्था मर्यादित में 5 फरवरी 2012 को रसीद नंबर 206 के माध्यम से उन्होंने दो लाख रुपए जमा कराए थे, जो 19 माह बाद 5 सितंबर को 2013 में मय ब्याज के मिलने थे। निर्धारित समय बीतने के बावजूद संस्था अध्यक्ष मांगीलाल रेडवाल, उपाध्यक्ष रमेश प्रजापत, संचालक मुन्ना प्रजापत, पुरुषोत्तम प्रजापत, दीपक प्रजापत व अन्य सदस्यों द्वारा आज तक रुपए नहीं लौटाए गए।

जांच में अध्यक्ष व संचालक पाए गए दोषी
प्रजापत ने बताया कि सहकारिता विभाग में संस्था के खिलाफ 8 फरवरी 2018 को शिकायत की थी। जांच में अध्यक्ष रेडवाल सहित अन्य संचालक दोषी पाए गए। इसके बावजूद विभाग ने अभी तक कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं की। संस्था सदस्यों की अमानत राशि डूबने की कगार पर है। संस्था की ठीक से जांच की जाए तो कई और घोटाले सामने आ सकते हैं।

रेडवाल व अन्य संचालक मंडल के खिलाफ मेरी व सदस्यों की एफडी की जमा राशि हड़पने, अमानत में खयानत, अनियमितता और अवैध कार्रवाई के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए। मामले में कार्रवाई की जानकारी संस्था के कर्ताधर्ताओं को लग गई, जिसके चलते पीडि़त को बुलाकर चेक दे दिया गया, ताकि वो शिकायत वापस ले ले और कार्रवाई से बचा जा सके।

नहीं दिया पैसा, इलाज के अभाव में मौत
पीडि़त ने शिकायत में बताया था कि मेरे तो ठीक मेरे भाई कैलाश प्रजापत ने परिवार के सदस्य के नाम पर संस्था में 35 लाख रुपए जमा किए थे। ये पैसा उन्हें नावदा पंथ की जमीन बेचने के बाद मिला था। ब्याज सहित मूल वापस नहीं दिया गया।

राशि वापस मांगने पर 6 अगस्त 2016 को ऑडिट अधिकारी व सहकारिता विभाग के जांच अधिकारी केएस मंडलोई के नाम पर शपथ पत्र देकर कहा था कि 24 किस्तों में पैसा लौटा दिया जाएगा। इसके बावजूद राशि नहीं लौटाई गई। उन्हें कैंसर हो गया, लेकिन पैसे के अभाव में उनकी मौत हो गई। हालांकि संस्था ने परिवार के सदस्यों को भी चेक दे दिया है।

आठ-दस दिन का कहा
मैंने अपनी जमा पूंजी नहीं मिलने पर कलेक्टर को शिकायत की थी। संस्था के कर्ताधर्ताओं ने मुझे बुलाकर सिर्फ चेक दिए हैं। कहना है कि आठ-दस दिन बाद खाते में पैसे जाएंगे।
लक्ष्मीनारायण प्रजापत, शिकायतकर्ता

हमने सभी को दे दिए चेक
लक्ष्मीनारायण प्रजापत व उनके परिजन ने संस्था में पैसा जमा कराया था। सभी को चेक दे दिए हैं। बात रही समय पर पैसा देने की तो संस्था ने सदस्यों को लोन दिए थे। अनेक सदस्यों ने पैसा नहीं लौटाया। अब सभी के खिलाफ वसूली अभियान चलाया जाएगा, जिसके लिए कलेक्टर से भी सहयोग की मांग करेंगे।
मांगीलाल रेडवाल, अध्यक्ष ईंट व्यापारी सहकारी साख संस्था मर्यादित

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned