क्या रिसॉर्ट में आत्महत्या करने आया था आईटी इंजीनियर का परिवार, मिलीं चार लाशें

it engineer suicide- दिल्ली के एक आईटी इंजीनियर ने इंदौर के क्रिसेंट वाटर पार्क में परिवार समेत आत्महत्या कर ली। जब एक कमरे में एक साथ चार लाशें मिलीं तो मामला आत्महत्या का बताया गया।

By: Manish Gite

Published: 27 Sep 2019, 12:35 PM IST

 

इंदौर। दिल्ली के एक आईटी इंजीनियर ने इंदौर के क्रिसेंट वाटर पार्क में परिवार समेत आत्महत्या कर ली। जब एक कमरे में एक साथ चार लाशें मिलीं तो मामला आत्महत्या का बताया गया। अब पुलिस इसकी जांच कर रही है कि क्या पूरा परिवार आत्महत्या करने के लिए ही रिसॉर्ट में आया था। इसकी भी जांच होगी कि पहले इंजीनियर ने अपनी पत्नी और जुड़वा बच्चों को कॉफी में केमिकल पिलाया था। बाद में खुद भी जहर पी लिया।

 

खुड़ैल स्थित क्रिसेंट वाटर पार्क के रिसोर्ट में अपोलो डीबी सिटी निवासी आईटी इंजीनियर, उसकी पत्नी व दो जुड़वां बच्चों के शव बरामद हुए हैं। मृतकों की शिनाख्त अभिशेक सक्सेना (45) पिता दिनेश सक्सेना, पत्नी प्रीति सक्सेना (40), बेटे अद्वित (14) और बेटी अनन्या (14) के रूप में हुई है।

रिसोर्ट प्रबंधन के मुताबिक इंजीनियर अभिषेक सक्सेना ने दो दिन के लिए कमरा बुक कराया था। वे किराए की टैक्सी से बुधवार को दोपहर में 3 बजे रिसोर्ट पहुंचे। दूसरे दिन गुरुवार शाम तक परिवार का कोई सदस्य कमरे से बाहर नहीं आया तो प्रबंधन ने दरवाजा खुलवाने की कोशिश की, लेकिन किसी ने भी दरवाजा नहीं खोला। शक होने पर रिसोर्ट प्रबंधन ने मास्टर चापी से दरवाजा खोला तो बेड पर शव देख पुलिस को सूचना दी। बताया जा रहा है कि परिवार रिसोर्ट में आने से पहले तिंछा फॉल जाने के लिए निकला था।

 

नीले पड़ गए थे चारों के शरीर
पुलिस के अनुसार मृतकों के शरीर नीले पड़ गए थे। पास में एक केमिकल की बोतल और एक वेट मशीन के पास कटोरी में चम्मच रखा था। चम्मच पर भी केमिकल लगा हुआ था। ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि केमिकल को कॉफी में मिलाया गया है। एफएसएल टीम ने भी कमरे में पहुंचकर जांच की। घर में परिवार के साथ 85 वर्षीय मां है। पुलिस ने दिल्ली में रह रहे रिश्तेदारों को सूचना देकर बुलाया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया है।

 

 

02.png

दिल्ली से दो साल पहले आया था परिवार
पड़ोसियों का कहना था कि परिवार दिल्ली का रहने वाला है और दो साल पहले एल्डोरा वन 804 फ्लेट में रहने आया था। अभिषेक की बहन दिल्ली में रहती हैं। ससुराल भी वहीं है। सूचना पर वे इंदौर के लिए रवाना हो गए थे। प्रीति के पिता भी सुबह की फ्लािट से इंदौर पहुंच गई हैं।


कोल्ड कॉफी में दिया केमिकल
इंदौर पुलिस के एसडीओपी अजय वायपेयी का कहना है कि प्रारंभिक जांच में मामला आत्महत्या का लग रहा है। रूम में सिर्फ कोल्ड कॉफी व पानी की बोतल आर्डर की गई थी। इसके बाद कोई सपर्क नहीं रहा। इससे लगता है, बच्चों को केमिकल कोल्ड कॉफी में मिलाकर पिलाया गया है। खुड़ैल पुलिस के मुताबिक तो घटनास्थल से मोबाइल, लैपटॉप व टेबलेट को जांच में शामिल किया है।

 

पिता के श्राद्ध से पहले आत्महत्या
अभिषेक सक्सेना के मामा की बेटी संध्या सक्सेना ने बताया कि इस घटना की खबर लगते ही वे दिल्ली से इंदौर पहुंच गई थीं। बुधवार रात 8 बजे प्रीति और उनके दोनों बच्चों से बात की थी, सभी खुश थे। अभिषेक ने कहा था कि वह शुक्रवार को लौटेगा, क्योंकि 28 सितंबर को पिताजी का श्राद्ध है। उनके घर का काम करने वाली सुलोचना बताती है कि अभिषेक और उनका परिवार 82 वर्षीय मां सरोज के साथ महालक्ष्मी नगर स्थित डीबी सिटी में रहते हैं।

Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned