VIDEO : एयरलाइंस में नौकरी के नाम पर छात्रों से लिए लाखों रुपए, ऑफिस में हुआ जमकर हंगामा

  • शिकायत मिलने पर पुलिस कर रही है जांच
  • छात्रों का आरोप- 80 हजार से एक लाख तक वसूले

इंदौर. एयरलाइंस कंपनियों में नौकरी दिलाने के नाम पर शहर में सैकड़ों युवाओं से ठगी का मामला प्रकाश में आया है। ठगी के शिकार युवक-युवतियों ने पैसा वापस देने की मांग कर कंपनी के दफ्तर पर जमकर हंगामा किया। इस मामले में पुलिस शिकायत मिलने के बाद जांच कर रही है।

शुक्रवार शाम विजय नगर स्थित प्रिंसेस बिजनेस स्काय पार्क इमारत में संचालित स्पीड जेट एविएशन कंपनी में हंगामे की सूचना पर पुलिस पहुंची। यहां बड़ी संख्या में युवक-युवतियों ने नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया। यहां कोर्स कर रहे विद्यार्थियों के साथ उनके परिजन भी बड़ी संख्या में पहुंचे थे। कंपनी के डायरेक्टर धर्मराज शुक्ला को बुलाने की मांग की गई, लेकिन स्टाफ के लोग जानकारी नहीं होने की बात कहते रहे। पुलिस दोनों पक्षों को विजय नगर थाने लेकर पहुंची। जहां 50 से ज्यादा विद्यार्थियों ने लिखित में शिकायत दर्ज कराई।

80 हजार से एक लाख तक वसूले

आस्था चौहान, ईशान बाजपेयी, नरेन्द्र परमार, इशिता वाधवानी, गुंजन नागपाल, सपना विश आदी ने बताया कि एयरलाइंस कंपनी में एयर होस्टेज, टेक्निकल स्टाफ, क्रू मेंबर आदी पदों पर नौकरी दिलाने के नाम पर 80 हजार रुपए से एक लाख रुपए तक फीस वसूली गई। क्लास में ट्रेनर और फैकल्टी नहीं होने से तीन माह से केवल कैंपस ड्राइव ही कराई जा रही है। एयरपोर्ट विजिट के नाम पर अलग से पैसे मांगे जा रहे हैं, जबकि पहले यह फीस में ही शामिल होने की बात कही गई थी। टीचिंग स्टाफ नहीं होने के बावजूद वार्निंग लेटर जारी कर क्लास में 100 फीसदी अटेंडेंस नहीं होने की बात कही जा रही है। पहले नौकरी नहीं मिलने पर फीस वापसी की बात कही गई, अब प्रबंधन के लोग इससे भी पलट रहे हैं। नौकरी के नाम पर सैकड़ों युवाओं से करोड़ों रुपए की ठगी की गई है। पुलिस आवेदन लेकर मामले की जांच कर रही है।

हुसैन अली Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned