दुष्कर्म पीडि़ता के साथ थाने पहुंची महिलाएं, एएसपी बोले - आरोपी की गर्दन काट देंगे

दुष्कर्म पीडि़ता के साथ थाने पहुंची महिलाएं, एएसपी बोले - आरोपी की गर्दन काट देंगे

Krishnapal Singh Chauhan | Publish: Aug, 25 2018 04:04:04 AM (IST) | Updated: Aug, 25 2018 12:57:01 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

जो आरोपी बदमाशी करेगा उसे जमींन में गाड़ देंगे

इंदौर. हीरानगर थाना क्षेत्र में 15 वर्षीय किशोरी से बलात्कार से रहवासी आक्रोशित हैं। मामला संज्ञान में आते ही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उस पर केस दर्ज कर लिया। आरोपी पक्ष ने जमकर हंगामा भी किया। शुक्रवार सुबह पीडि़ता को लेकर परिजन कई महिलाओं के साथ विरोध प्रदर्शन करने पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचे। अधिकारियों से आरोपी पक्ष द्वारा उनके खिलाफ थाने में झूठी रिपोर्ट दर्ज कराने की शिकायत की। उन्हें निष्पक्ष कार्रवाई करने का आश्वासन दिया गया। अधिकारी ने बलात्कार के आरोपी की गर्दन काटने तक की बात कह दी। वे गुस्से में बदमाशी करने वालों को जमीन में गाड़ देने की बात कहने लगे। इसके बाद महिलाओं का गुस्सा शांत हुआ।

गुरुवार रात पुलिस ने किशोरी से बलात्कार के आरोपी धर्मेंद्र यादव निवासी गौरी नगर को गिरफ्तार किया। शुक्रवार को पीडि़ता के परिजन आरोपी पर कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर अधिकारियों से मिलने पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचे। डीआइजी दफ्तर के बाहर एएसपी प्रशांत चौबे मिले तो उन्होंने पीडि़त पक्ष द्वारा पथराव व जानलेवा हमला करने की बात कही। इस पर पीडि़त पक्ष ने कहा, कहीं पुलिस आरोपी की शिकायत पर उनके खिलाफ केस दर्ज न कर ले। चौबे ने कहा, पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कार्रवाई कर दी है। उसे आजीवन कारावास या फांसी की सजा मिलना तय है। लेकिन आप गलती करोगे तो आप पर भी कार्रवाई होगी। किसी को कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। इस पर महिलाओं ने कहा, रात में वे रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंचीं लेकिन पुलिस ने मदद नहीं की। इस पर एएसपी झल्लाकर बोले, पुलिस बिलकुल सही कार्रवाइ कर रही है। यदि कोई आरोपी बदमाशी करेगा तो उसे जमीन में गाड़ देंगे। बलात्कार के आरोपी की गर्दन काट देंगे। उन्होंने महिलाओं को घर जाने को कहा। वे बोले, कोई परेशानी आए तो डॉयल १०० पर फोन करो, टीआइ से मदद मांगो। कोर्ट में बयान कराएं, लेकिन महिलाएं अपनी बात अधिकारियों तक पहुंचाने का प्रयास करती रहीं। एएसपी बोलो, आरोपी चाहता है आप फिर कोई गलती करें। आपके घर पर पुलिस लगा दी है। आपके खिलाफ कोई झूठी रिपोर्ट दर्ज नहीं की जाएगी। इसके बाद एएसपी ने पीडि़त परिवार को अपना निजी नंबर दिया।

डिप्रेशन में आई किशोरी आईसीयू में भर्ती

पीडि़ता के भाई ने बताया, घटना सामने आने पर उनके परिवार के सदस्य आरोपी के घर पहुंचकर विरोध करने लगे। इसके बाद थाने पहुंचे। आरोप है, आरोपी के परिजन ने खुद के घर पर तोडफ़ोड़ की। बाद में हॉस्पिटल में भर्ती होने चले गए। वहां उन्हें आरोपियों द्वारा उनके घर पर जमकर पथराव करने की सूचना मिली। काफी देर बाद पुलिस ने घटनास्थल पर 2 जवान भेजे। शुक्रवार दोपहर परिवार बहन को लेकर पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचा। यहां विरोध जताने के बाद उसे मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान कराने कोर्ट ले गए। करीब 45 मिनट चले बयानों के बाद उसे लेकर थाने पहुंचे। उन्होंने बताया, बहन मानसिक रूप से बीमार है। दिनभर उससे घटना के संबंध में कई सवाल-जबाव हुए। उसके डिप्रेशन में आने के बाद रिश्तेदार के घर ले गए। शाम को अचानक शरीर झटके मारने लगा। मुंह से खून निकलने पर क्षेत्र के निजी हॉस्पिटल ले गए। हालत गंभीर होने पर अरबिंदो हॉस्पिटल ले गए। उसका आइसीयू में उपचार जारी है। डॉक्टर उससे किसी को मिलने नहीं दे रहे। बड़ी बहन की तबीयत भी बिगड़ गई। उसका उपचार भी हॉस्पिटल में जारी है। पुलिस भी हॉस्पिटल में मौजूद है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned