हाईप्रोफाइल देह व्यापार का अड्डा पकड़ा, आपत्तिजनक हालत में मिले लडक़े-लड़कियां, ऐसे होता था सौदा

हाईप्रोफाइल देह व्यापार का अड्डा पकड़ा, आपत्तिजनक हालत में मिले लडक़े-लड़कियां, ऐसे होता था सौदा

Hussain Ali | Publish: Jun, 17 2019 01:23:25 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

पुलिस ने देह व्यापार के एक हाइप्रोफाइल अड्डे का पर्दाफाश किया है।

इंदौर. पुलिस ने देह व्यापार के एक हाइप्रोफाइल अड्डे का पर्दाफाश किया है। यह रैकेट एक महिला चला रही थी। फेसबुक और इंस्टाग्राम पर वे ग्राहकों को लड़कियों के फोटो भेजते थे। पुलिस ने ग्राहक बनकर पूरे मामले की हकीकत जानी और फिर छापा मारकर ग्राहक व युवतियों को पकड़ा।

must read : पति चिल्लाता रहा, कल्पना बचा लो मुझे, ये लोग मार डालेंगे और फिर हुआ ये ...

एएसपी क्राइम अमरेंद्र सिंह चौहान ने बताया, तेजाजी नगर इलाके में लिंबोदी स्थित एक घर पर देह व्यापार चलने की सूचना क्राइम वॉच पर मिली। एक पुलिसकर्मी को वहां ग्राहक बनाकर भेजा गया। बाहर खड़ी टीम को उसने मैसेज भेजा वैसे ही छापा मार दिया। चार युवतियां और दो लडक़े आपत्तिजनक हालते में पकड़ाए हैं। लड़कियां मुंबई, कोलकाता और ग्वालियर की निवासी हैं। महिला फेसबुक, वॉट्सऐप, इंस्ट्राग्राम पर युवतियों के फोटो ग्राहकों को भेजती। इसके बाद फोन पर बात कर सौदा तय कर घर में ही ग्राहक को बुला लेती। मौके से पुलिस ने ग्राहक आयुष सिंघाल निवासी जवाहर नगर व रोहित रायकवार निवासी खंडवा को पकड़ा। आयुष बीकॉम का छात्र है और अकसर यहां आता है। रोहित खंडवा में चाय की दुकान चलाता है। वह इंदौर में घूमने आया था, तब नंबर मिलने पर यहां आया। दो दिन से वह कमीशन के लिए ग्राहक लेकर आ रहा था। घर से २२ हजार रुपए, छह मोबाइल व आपत्तिजनक वस्तुएं मिलीं। तेजाजीनगर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है।

must read : एटीएम में जमा 21 लाख रुपए, पलभर में इस तरह हो गए गायब

6 महीने से चल रहा था देह व्यापार

आउटर कॉलोनी होने के चलते करीब 6 महीने से यहां रैकेट संचालित हो रहा था। ग्राहक से एक से दो हजार रुपए लिए जाते थे। इससे कॉलोनी के रहवासी परेशान थे। संचालक महिला का मुंबई व कोलकाता के कुछ दलालों से संपर्क है। वे लोग वहां से हर महीने अलग-अलग लड़कियों को भेजते। इन्हें पूरे महीने का पैसा एडवांस दिया जाता। साथ ही रहने व खाने का इंतजाम करना होता। मामले में संचालिका से तेजाजी नगर पुलिस की भूमिका को लेकर पूछताछ की जा रही है। छह महीने से संचालित हो रहे इस अड्डे की भनक स्थानीय पुलिस को नहीं होना भी सवाल पैदा करती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned