पुलिस ढूंढ रही थी और आरोपित सुधार गृह में बंद मिला

पुलिस ढूंढ रही थी और आरोपित सुधार गृह में बंद मिला

Chintan Vijayvargiya | Publish: Sep, 05 2018 11:59:00 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

पलासिया में पुजारी पर हमला का मामला, रैकी करने वाले साथी की तलाश

इंदौर. पुजारी को चाकू मारने वाले की पुलिस तलाश कर रही थी। इस बीच पता चला कि वह तो शराब तस्करी के मामले में सुधार गृह में बंद है। वहां पर पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी ली। घटना के लिए रैकी करने वाले साथी की तलाश है।

पलासिया इलाके में डीआईजी के बंगले के सामने गायत्री मंदिर के पुजारी राजकुमार शुक्ला निवासी चितावद को बाइक सवार दो बदमाशो ने 21 मई को चाकू मारे थे। पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद घटना में शामिल लखन निवासी हीरा नगर को पकड़ा। उसने बताया था कि चाकू मारने वाला परदेशीपुरा इलाके में रहता है। उसकी उम्र 16 वर्ष है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी। इस बीच जानकारी मिली कि नाबालिग को परदेशीपुरा पुलिस ने जहरीली शराब के साथ 2 अगस्त को पकड़ा था। इसके बाद उसे सुधार गृह में भेज दिया गया। पता चला कि इसकी पलासिया पुलिस को भी तलाश है। उन्होंने आरोपित की जानकारी पलासिया पुलिस को दी। पुलिस ने सुधार गृह में उसकी गिरफ्तारी लेने के लिए बाल न्यायालय में आवेदन किया था। अनुमति मिलने के बाद बुधवार को पलासिया पुलिस सुधार गृह पहुंची व आरोपित की गिरफ्तारी ली। उसी ने पुजारी को चाकू मारे थे। घटना में शामिल नीरज निवासी नागदा की तलाश है। उसने ही हमले के लिए 90 हजार रुपए में सुपारी ली थी। घटना वाले दिन भी वह दूसरी बाइक से था। नीरज ने ही आरोपित को उस व्यक्ति के बारें में जानकारी दी थी जिस पर हमला करना था।

बतातें है कि गायत्री मंदिर के ही एक व्यक्ति को मारने की सुपारी मिली थी। गफलत में आरोपित ने राजकुमार पर हमला कर दिया। इसी के चलते पूरे रुपए नहीं मिलने पर तीनो आरोपित के बीच विवाद भी हुआ था। पुलिस ने बताया कि नीरज की गिरफ्तारी केबाद पता चलेगा कि हमले के लिए उसे किसने सुपारी दी थी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned