गुवाहटी के लिए भेजे 27 लाख के आलू की अफरातफरी

गुवाहटी के लिए भेजे 27 लाख के आलू की अफरातफरी

Chintan Vijayvargiya | Publish: Sep, 09 2018 06:49:07 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

लसूडिय़ा इलाके का मामला, ट्रांसपोर्ट ब्रोकर पर केस दर्ज

इंदौर. लसूडिय़ा इलाके से ट्रंासपोर्टर ने 27 लाख रुपए के आलू एक ट्रांसपोर्ट ब्रोकर के जरिए गुवाहटी भेजे। तय समय में माल नहीं पहुंचा। ब्रोकर भी ट्रक को लेकर कोई जानकारी नहीं दे रहा। बाद में ऑफिस बंद कर वह गायब हो गया। पता किया जा रहा है कि माल कहां पर उन्होंने बेच दिया।

लसूडिय़ा पुलिस ने कटारिया कॅरियर के रितिक शर्मा निवासी कनाडिय़ा रोड की रिपोर्ट पर देवास नाका पर बरार गोहाटी रोडवेज के धर्मेंद्र सिंह के खिलाफ अमानत में ख्यानत का केस दर्ज किया। फरियादी ट्रांसपोर्टर की कंपनी अन्य ब्रोकर के जरिए ट्रक लेकर ऑर्डर पर माल भेजती है। 7 से 10 अगस्त के बीच उन्होंने धर्मेंद्र के जरिए छह आलू के ट्रक गुवाहटी के लिए भेजे। सामान्य रूप से माल लेकर 6-7 दिन में ट्रक गुवाहटी पहुंच जाते है। 10 दिन बाद भी ट्रक नहीं पहुंचे तो वहां के व्यापारियों ने ट्रांसपोर्टर से संपर्क किया। तब धर्मेंद्र एक-दो दिन में माल पहुंच जाने की बात कहता रहा। 15 दिन बाद भी ट्रक नहीं पहुंचे तो फरियादी ने अपने कर्मचारी को गुवाहटी भेजा। वहां पता चला कि ट्रक तो पहुंचे ही नहीं। रास्ते में कई टोल नाके पर भी जानकारी ली तो यहां से ट्रक निकले भी नहीं। जब फरियादी ने ट्रक को लेकर जानकारी मांगी तो धर्मेंद्र कहता रहा कि सभी ट्रक अलग-अलग भाईयों के है। उनमें विवाद हो गया है तो देरी हो रही है। फिर अचानक वह ऑफिस बंद कर गायब हो गया।

ट्रक में 27 लाख रुपए का माल था। साथ ही भाड़े के 7.50 लाख रुपए भी फरियादी ने दिए थे। आलू चूंकि जल्दी खराब हो जाता है तो उसे कही ज्यादा समय तक खुले में नहीं रखा जा सकता। ऐसे में लग रहा है कि इन्हें कही पर बेच दिया गया है। धर्मेंद्र का पता नहीं चलने पर लसूडिय़ा पुलिस को शिकायत की गई। जांच के बाद पुलिस ने केस दर्ज किया।

Ad Block is Banned