MP ELECTION : जाने कांग्रेस के इन प्रत्याशियों का परिचय

MP ELECTION : जाने कांग्रेस के इन प्रत्याशियों का परिचय

Nitesh Kumar Pal | Updated: 04 Nov 2018, 12:54:58 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

जिले में कांग्रेस के एकमात्र विधायक को सतत संपर्क से मिला टिकट

इंदौर.
राऊ : जीतू पटवारी
जिले से एकमात्र कांग्रेस विधायक और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से नजदीकी के चलते पार्टी ने उन पर फिर भरोसा जताया है। आधी ग्रामीण और आधी शहरी क्षेत्र की इस विधानसभा में किसानों की आइडीए में उलझी जमीनों के साथ ही पानी की समस्या जनता की बड़ी दिक्कत है। शहरी क्षेत्र के 8 वार्डों में विकास के काम अधूरे ही हैं।

44 साल
शिक्षा : एलएलबी (ऑनर्स)
ठीया : बिजलपुर स्थित घर और दफ्तर के साथ ही पूरे क्षेत्र में लगातार सक्रीय रहते हैं।
राजनीतिक अनुभव : एनएसयूआई से अपने राजनीति की शुरूआत करने वाले पटवारी ने पार्षद और 2008 में विधानसभा चुनाव हार गए थे। 2013 में विधानसभा चुनावों में जीत हासिल की। 2017 में कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और 2018 में प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष बने।
प्रोफेशन : पटवारी और उनकी पत्नी के नाम पर 28 एकड़ जमीन हैं।
कोर टीम : मित्र जय हार्डिया, दिलीप सुरागे, संजय कामले
सोशल मीडिया: 3.30 लाख फेसबुक पर और ट्विटर पर 2.70 लाख फालोअर

 

सांवेर : तुलसीराम सिलावट

indore

सिंधिया से नजदीकी के चलते 7वीं बार सांवेर से संभाला मैदान

1985 के बाद से ही सिलावट इंदौर में रहने के बाद भी इसी विधानसभा में सक्रिय रहे हैं। पूरी विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों में उनका सतत संपर्क है। पूरी विधानसभा में सडक़ें सबसे बड़ा मुद्दा है। विधानसभा में सालों बाद भी सडक़ें नहीं बनी है। फसलों का बीमा और दाम नहीं मिलना भी एक बड़ी परेशानी है।

63 साल
शिक्षा : एलएलबी प्रथम वर्ष
ठीया : एमवाय के सामने स्थित ममता रेस्टोरेंट की बिल्डिंग।
राजनीतिक अनुभव : सांवेर में 1985 में विधायक बने। 1990, 1993 में भाजपा के प्रकाश सोनकर से हारे। 1998, 2003 में टिकट नहीं मिला। 2007 में उपचुनाव 2008 में जीते। 2013 में हारे।
प्रोफेशन : तकरीबन 12 एकड़ कृषि भूमि, किराए की दुकानों से राशि मिलती है।
कोर टीम : मंजूर बेग, प्रकाश तिवारी, गिरीश जोशी, श्याम सोनी, हाकमसिंह साखला
सोशल मीडिया: फेसबुक पर 10 हजार, १२३२ लोग लोग ट्विटर पर जुड़े हैं।

 

इंदौर-3 : अश्विन जोशी

indore

पारिवारिक द्वंद्व के बीच कांगे्रस ने पांचवीं बार मैदान में उतारा

तीन बार के विधायक अश्विन जोशी वैसे तो पिछला चुनाव हार गए थे, लेकिन उसके बाद बी पूरे क्षेत्र में लगातार सक्रीय रहते हैं। शहर के बीच के हिस्से और बाजार क्षेत्र की इस सीट में धीमी गति से चल रहे विकास काम, पार्किंग और पानी बहुत बड़ी समस्या है। यहां आए दिन जाम लगना नई बात नहीं है। जिसके चलते इस विधानसभा से कई लोगों ने अपने घर अन्य जगह पर बना लिए हैं। कांग्रेस के नेतृत्व में होने वाले आयोजनों में जोशी लगातार सक्रीय रहते हैं। राहुल गांधी की सभा में भी सक्रीय थे।

राजनीतिक अनुभव
जोशी के चाचा महेश जोशी कांग्रेस के बड़े नेताओं में शामिल हैं। 1997 में जोशी ने राजनीतिक जीवन की शुरुआत युवक कांग्रेस महासचिव पद से की थी। इसके बाद 1998 में पहली बार विधायक बने। 2013 तक वे ही इंदौर-3 के विधायक रहे। 2013 में भाजपा की उषा ठाकुर से चुनाव हारे।

58 साल
शिक्षा : बीएससी पास
ठिया: इमली बाजार स्थित दफ्तर, राजबाड़ा चौक और जेलरोड।
प्रोफेशन : व्यापार, शेयर और म्युचल फंड में निवेश, बैंक में जमा राशि पर ब्याजा
कोर टीम : मित्र-हनी पांडे, पार्षद अंसाफ अंसारी, पूर्व पार्षद रश्मि वर्मा।
सोशल मीडिया : फेसबुक पर १३२३ लोग जुड़े हैं। लगातार सक्रिय रहते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned