VIDEO : जीतू के भतीजे का कारखाना भी ध्वस्त.., बिना नक्शा पास करवाए बनवाया था शेड

पोलोग्राउंड स्थित कारखाने को निगम की टीम ने सवा घंटे में कर दिया मटियामेल

 

इंदौर. मानव तस्करी सहित 40 से ज्यादा मामलों में फरार एक लाख रुपए के इनामी आरोपित जीतू सोनी पर शासन का प्रहार जारी है। आज उसके भतीजे के पोलोग्राउंड स्थित कारखाने को नगर निगम की टीम ने सवा घंटे में मटियामेट कर दिया। निगम की तरफ से कहा गया कि बिना नक्शा पास करवाए शेड बनाया गया था।

आज सुबह 6.30 बजे नगर निगम की टीम भागीरथपुरा पोलोग्राउंड क्षेत्र में पहुंची। उनके साथ बिजली विभाग के कर्मचारी भी मौजूद थे। यहां पर सोनी ध्वस्त इलेक्ट्रोप्लेटर्स नामक कारखाने की पहले लाईट काटी गई। ये फैक्टरी एक लाख के इनामी फरार जीतू सोनी के भतीजे जिग्रेश पिता हुकुम सोनी की थी। करीब 7.30 बजे अपर आयुक्त रजनीश कसेरा, उपायुक्त महेंद्रसिंह और रिमूवल गेंग के प्रभारी वीरेंद्र उपाध्याय की हरी झंडी मिलते ही पोकलेन ने तोडफ़ोड़ शुरू कर दी। देखते ही देखते कारखाने को ध्वस्त कर दिया गया। बीच में कुछ देर कार्रवाई को रोका गया, क्योंकि एक टेंक में एसिड रखा हुआ था। उसके फूटने पर गड़बड़ हो सकती थी। बाद में पोकलेन को दूसरी ओर से तोडफ़ोड़ करने के लिए भेजा गया। करीब 9.30 बजे तक करीब दो हजार वर्गफीट पर बनी इस फैक्टरी को पूरी तरह नेस्तनाबूत कर दिया गया।

बनाते बिजली के मीटर
कारखाने पर बिजली के मीटर व अन्य उत्पाद बनाए जाते थे। ये फैक्टरी पोलोग्राउंड इंडस्ट्रियल एरिया के प्लॉट 11-ए भागीरथपुरा में थी। इसमें दो हजार वर्ग फीट पर टिन शेड बना था, जिसके लिए निगम से निर्माण की कोई अनुमति नहीं ली गई थी। औद्योगिक क्षेत्र में निर्माण के लिए नगर निगम को नक्शे की फीस देकर एनओसी लेने का नियम है, तब उद्योग विभाग अनुमति देता है। इस मामले में कोई अनुमति नहीं ली गई थी।

रीना शर्मा Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned