जेल में सजा काटते वक्त बनाई गैंग, बाहर आते व्यापारियों को सिलसिलेवार लूट, दो गिरफ्तार

जेल में सजा काटते वक्त बनाई गैंग, बाहर आते व्यापारियों को सिलसिलेवार लूट, दो गिरफ्तार
loot accused

Krishnapal Singh Chauhan | Publish: Feb, 11 2019 07:28:24 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

क्राइम ब्रांच ने तीन थाना पुलिस के साथ मिलकर की कार्रवाई, मध्यप्रदेश के पांच व महाराष्ट्र के कई शहरों में गैंग कर चुकी वारदात

 

शहर के कई स्थान पर सिलसिलेवार व्यापारियों को लूट कर भागने वाली गैंग की हकीकत को क्राइमब्रांच ने तीन थाना पुलिस के साथ मिलकर उजागर किया है। गैंग के सदस्य जेल में सजा काटते वक्त मिले। दोस्ती के बाद सभी ने गैंग बनाई। फिर जेल से छूटते ही शहर में एक के बाद एक पांच स्थानों पर लूट कर दी। गैंग के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर मध्यप्रदेश ही नहीं बल्कि महाराष्ट्र के कई शहरों में वारदात करना कबूला है।

डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र के मुताबिक क्राइमब्रांच, भंवरकुआ, तेजाजी नगर व खजराना पुलिस ने मिलकर शहर में सिलसिलेवार पांच लूट के मामलों में फरार गैंग के सदस्य राकेश उर्फ प्रमोद २८ पिता रमेश पंवार निवासी शोभाबाग रीजनल पार्क के समीप स्थित झोपड़पट्टी व सुनील ३३ पिता रमेशचंद्र बरमुण्डा निवासी पुष्पकुंज कॉलोनी, देवास को रविवार को गिरफ्तार किया है। सूचना के बाद टीम ने सुनील को देवास से पकडक़र पूछताछ की तो रायसेन में मौसा ससुर के घर छुपे राकेश भी पकड़ा गया। पूछताछ में दोनों ने भंवरकुआ, राजेंद्र नगर, तेजाजी नगर, एमआईजी व खजराना में रैकी के बाद व्यापारियों को चाकू व पिस्टल की नोक पर लूटना कबूला। वारदात में दोनों ने जेल में बंद आरोपी मनोज ५५ पिता बद्रीप्रसाद शर्मा निवासी खंडवा, विश्वास ३६ पिता दिलीप सोनी निवासी मानवता नगर भूरी टेकरी व राजा उर्फ जालम पिता फूलसिंह उर्फ लटकन सिंह निवासी जबलपुर के साथ लूट करना बताया।

इन थाना क्षेत्र में की लूट

- भंवरकुआ थाना क्षेत्र में धानुका इंटरप्राइजेस नाम से किराना व्यवसाय कर रहे व्यापारी को रैकी के बाद गैंग ने बाइक से घेरा कर रोका। फिर चाकू की नोक पर ८० हजार लूटे। व्यापारी के विरोध करने पर गैंग ने उन पर पिस्टल से फायर भी किए।

- तेजाजी नगर थाना क्षेत्र के खंडवा रोड पर गैंग ने राजा ट्रेडिंग कंपनी के थोक किराना व्यापारी को लूटा। गैंग के सदस्यों ने बाइक से व्यापारी का पीछा किया। तब व्यापारी अपने भाई के साथ साईंबाग स्थित घर जा रहे थे। रास्ते में आरोपियों ने ज्वलनशील पदार्थ उन पर फेंक नकदी, मोबाईल, एटीएम व वाहन लूट कर भागे थे।

- २६ जून २०१८ को एमआईजी क्षेत्र मे बदमाशों ने लोहे, डंडे व पिस्टल दिखाकर व्यापारी से बैग लूट लिया। जिसमें उनके चश्मे की दुकान का सामान रखा था।

जेल में हुई दोस्ती

आरोपी सुनील और राकेश से पता चला है कि वह जब चोरी के मामले में सेंट्रल जेल में बंद थे। तब आरोपी मनोज, विश्वास निवासी खंडवा, वहां हुई लूट मामले में गिरफ्तार हुए। वहां की पुलिस ने दोनों को सेंट्रल जेल इंदौर भेज दिया। वहीं आरोपी राजा पूर्व में राजेंद्र नगर में हुई लूट में गिरफ्तार होकर सेंट्रल जेल इंदौर में बंद है। वर्तमान में राजा हत्या के मामले में वहां सजा काट रहा है। इस दौरान सभी के बीच दोस्ती हुई। यहां से छूटते ही गैंग ने शहर के दो दर्जन व्यापारियों को चिन्हित कर उनकी रैकी करना शुरू कर दी। फिर सिलसिलेवार लूट की वारदात की। राकेश के बारे में पुलिस ने जानकारी जुटाई है। उसके खिलाफ कनाडि़या में ३, लसूडि़या में ४, हीरानगर में ९, एरोड्रम में २, सिमरौल, बाणगंगा, तेजाजीनगर, परदेशीपुरा, राजेंद्र नगर के अलावा खंडवा, उज्जैन में दर्जनभर अपराध दर्ज है। राकेश मूलत: सीहौर का रहने वाला है। पूर्व में वह कनाडि़या में कर्नल के घर से करोड़ों रुपए चोरी कर चुका है। सुनील उसका पार्टनर है। उसके खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती सहित पांच मामले दर्ज है। दोनों ने अन्य आरोपियों के साथ मिलकर बड़वाह, ओंकारेश्वर के मंधाता थाना, महाराष्ट्र के विभिन्न शहरों में भी लूट करना कबूली है। दोनों आरोपी से प्राप्त जानकारी के बाद गिरोह के अन्य सदस्य को प्रोडक्शन वारंट पर पूछताछ पर लाएेंगे। सबसे पहले छीपाबड़ जेल में बंद मनोज और विश्वास को पूछताछ के लिए लाएेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned