सिम देकर बोला बात करना, इनकार करने पर युवती को पीट दिया

सिम देकर बोला बात करना, इनकार करने पर युवती को पीट दिया

Manish Yadav | Publish: Sep, 16 2018 11:18:11 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

द्वारकापुरी थाना क्षेत्र में हुई छेड़छाड़

इंदौर। द्वारकापुरी थाना क्षेत्र में एक किशोरी के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि आरोपित ने किशोरी को मोबाइल की सिम देकर बात करने के लिए बोला था। इनकार करने पर उसे पीट दिया।

पुलिस के अनुसार वीआइपी परस्पर नगर में रहने वाली किशोरी की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है। उसने पुलिस को बताया कि वह काम के लिए जाती है तो आरोपित लल्ल उर्फ मंदीप निवासी ममता नगर उसका पीछा करता है। पिछले १५ दिनों से यह चल रहा था। एक दिन आरोपित ने उसे रोक लिया और उसके साथ विवाद करने लगा। उसने उसे मोबाइल की सिम दी और उसे फोन करने के लिए बोला था। उसने बात करने से इनकार कर दिया था। इस पर माता-पिता को जान से मारने की धमकी दी और उसके साथ छेड़छाड़ की। जब उसने शिकायत करने की बात कही तो उसे पीट दिया।
कॉलेज का साथी कर रहा परेशान

छेड़छाड़ का एक मामला संयोगितागंज थाना क्षेत्र का है। गुमाश्ता नगर में रहने वाली युवती ने संयोगितागंज पुलिस को बताया कि आरोपित विकास वर्मा उनके साथ कॉलेज में पढ़ा है। कल उनके दफ्तर में काम कर रही थी। इसी दौरान बदमाश वहां घुसा और शादी का प्रस्ताव रखा। उसने भगा दिया, लेकिन आरोपित उसे परेशान करने लग

महिला से बलात्कार

बाणगंगा में बदमाश ने घर में घुसकर महिला के साथ में बलात्कार किया। पुलिस के अनुसार महिला ने बताया कि पास ही में रहने वाला अनिल पिता रामगोपाल चौहान घर में घुस आया था। उसने उसके साथ में बलात्कार किया। विरोध करने पर उसे जान से मारने की धमकी दी। वहीं सुखलिया में रहने वाली किशोरी के साथ में भी बलात्कार का मामला सामने आया है। उसने हीरानगर पुलिस को बताया कि आरोपित किशन पिता राधेश्याम निवासी सांवेर ने शादी का झांसा देकर उसके साथ बलात्कार किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned