scriptMotivational speaker arrested for cheating 10 crores | 10 करोड़ की ठगी करने वाला मोटिवेशनल स्पीकर गिरफ्तार | Patrika News

10 करोड़ की ठगी करने वाला मोटिवेशनल स्पीकर गिरफ्तार

इंटरनेट कॉलिंग से करता था संपर्क, नीदरलैंड्स कभी दुबई में होने की बताता था लोकेशन

इंदौर

Published: December 04, 2021 07:19:05 pm

इंदौर. मोटिवेशनल स्पीकर ब इंटरप्रेन्योर बताकर इंदौर के लोगों से करीब 10 करोड़ ठगने वाले आरोपी भगवान बसंत को लसूड़िया पुलिस ने पुणे से गिरफ्तार किया है। बसंत ने पुणे में कंपनी खोल वहां भी धोखाधड़ी की तैयारी कर ली थी।

Motivational speaker arrested

फरारी के दौरान वह साथियों से इंटरनेट व वाट्सऐप कॉलिंग के जरिए संपर्क में था। एएसआइ राजेश रघुवंशी के मुताबिक, पूछताछ में आरोपी बरगलाने व रोब झाड़ने की कोशिश करता है। वह खुद को हिंदी, इंग्लिश के साथ कनन्‍नड़, बिहारी, मराठी, तेलगू भाषा का जानकार बताता है।

उसने देश में विभिन्‍न प्रकार के 24 अवार्ड से सम्मानित होने का दावा किया है और उनकी लिस्ट भी पुलिस को दी है। यूट्यूब पर भी उसके वीडियो हैं, जिसमें वह खुद को इंटरप्रेन्योर बताता है। इसी की आड़ में वह लोगों को ठगता था। एसआइ संजय विशनोई के मुताबिक, भगवान बसंत ने 207 में यहां किराए की फैक्टरी लेकर व सिक्‍योर नाम से कंपनी बनाकर काम शुरू किया था। वह सेनेटरी पैड, जीपीएस सिस्टम बनाता था।

लोगों को झांसादेता था कि अगर कंपनी में निवेश करेंगे तो कम कीमत में बिक्री के लिए सामान देगा। इससे मुनाफा होगा और छह महीने में राशि दोगुना हो जाएगी। इसके लिए उसने एजेंट भी नियुक्त किए थे, जो कमीशन के आधार पर लोगों को लाते थे। कोरोनाकाल में उसने मास्क, पीपीइ किट, सैनेटाइजर बनाना शुरू किया था। करीब 40 लोगों से 10 करोड़ रुपए जमा किए। मामले में उस पर दो केस दर्ज हो चुके हैं। ग्वालियर में भी एक केस दर्ज होने की बात सामने आई है।

नीदरलेंड में होने की देता था झूठी जानकारी
फरार होने पर लोगों ने उससे अपनी जमा राशि मांगी तो उसने किसी को नीदरलैंड्स तो किसी को दुबई में होने की झूठी जानकारी दी। एसआइ विश्नोई के मुताबिक, सूचना पर टीम पुणे गई। 2-3 दिन की तलाश के बाद उसे किराए के फ्लैट से पकड़ लिया। फरार होने से पहले उसने फैक्टरी की मशीनें बेच दी थीं।

स्वयं-पत्नी के नाम पर हैं 24 खाते
एसआइ विश्नोई ने बताया कि भगवान व उसकी पत्नी के अलग-अलग बैंकों में 24 खाते है। कई जगह संपत्ति खरीदने की बात भी पता चली है, जिसकी जांच की जा रही है। पुलिस इसमें निष्पेक्षों का संरक्षण अधिनियम की धारा बढ़ा रही है ताकि संपत्ति बेचकर लोगों को राहत दिलाई जा सके।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.