इस शहर में ली 150 ऑर्गन ट्रासप्लांट और 12 हजार ऑर्गन डोनेट करने की शपथ

amit mandloi

Publish: Jan, 14 2018 05:22:01 AM (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
इस शहर में ली 150 ऑर्गन ट्रासप्लांट और 12 हजार ऑर्गन डोनेट करने की शपथ

स्वच्छता और अंगदान के लिए पहचाना जाता है, फिक्की फ्लो द्वारा ऑर्गन डोनेशन अवेयरनेस पर ‘लाइफ बियॉंड लाइफ’ कार्यक्रम आयोजित

 

इंदौर. जब किसी दूसरे शहर में आप ये बताते है कि आप इंदौर से है तो लोग सम्मान की नजर से देखते है। यहां के लोगों को अंगदान और स्वच्छता के लिए जाना जाता है। यही वजह है कि जब हम लोगों से मिलते है तो वे हमे एक जागरूक शहर के नागरिक के रूप देखते है जो अपनी जिम्मेदारियों को निभाना जानते है। हर इंदौरी को इस बात गर्व होना चाहिए ये बात इंदौर कमिश्रर संजय दुबे ने शनिवार को होटल मैरियट में फिक्की फ्लो की ओर से आयोजित कार्यक्रम ‘लाइफ बियॉंड लाइफ’ मे कही। उन्होने फ्लो की मैंबर्स को ऑर्गन डोनेशन की प्रोसेस, चैलेंजेस और इम्र्पोटेंस की जानकारी दी। उन्होने बताया कि व्यक्ति के ब्रेन स्टेम डेड हो जाता है तो उसके परिवार की अनुमति से ऑर्गन डोनेट किया जा सकता है। इंदौर सोसायटी ऑफ ऑर्गन डोनेशन और ग्रीन कॉरिडोर प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी दी। उन्होने बताया कि ऑर्गन डोनेशन सबसे ज्यादा बड़ा चैलेंज है डिमांड ज्यादा है और डॉनर कम। अगर आकडों की बात करे तो स्पेन में सबसे ज्यादा ऑर्गन डॉनर है। स्पने में साल २०१४ में १० लाख पर ३४ प्रतिशत डॉनर थे और भारत में सिर्फ ०.३४ प्रतिशत। साल २०१६ में स्पेन ४२ परसेंट हो गया और भारत में ये आकडा १.९ प्रतिशत हुआ। अब तक शहर में १५० ऑर्गन ट्रासप्लांट किये जा चुके है और १२ हजार लोग ऑर्गन डोनेट करने की शपथ ले चुके है। जरूरत ज्यादा है लेकिन डॉनर कम। इसके लिए कई एनजीओं भी अवेयरनेस कैंपेंन कर रहे है। जरूरत है कि लोग इस बात को समझ कि जिंदगी के बाद भी एक जिंदगी जी सकते है।

जरूरत उपलब्ध
किडनी २ लाख, ५ हजार

हार्ट ५०,०००, १००
लीवर ५०,००० ७५०

आंखे ५० हजार
स्किन नो काउंट

उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेज में स्टुडेंटस की प्रैक्टिस के लिए भी केडेवरर्स की जरूरत होती है। जम्मु-कश्मीर से मेडिकल प्रेक्टिस के लिए इंदौर से केडेवर्स भेजे जाते है। वे बताते है कि ऑर्गन डोनेशन की प्रोसेस आसान नही होती। एक ट्रांसप्लांट में ४० घंटों का लगातार काम और १०० लोगों का टीमवर्क लगता है। वे बताते है कि इंदौर स्किन डोनेशन में इंदौर दूसरे स्थान पर है और आई डोनेशन में तीसरे स्थान पर है। हम फरवरी-मार्च के बीच शहर में बोनमेरो ट्रांसप्लांटेशन की शुरूआत करने पर भी काम कर रहे है। इसे दूसरे शहरों में शुरू करने की कोशिश के साथ ही हार्ट वॉल्व और बोन बेंकिंग पर भी काम किया जाएगा। कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्जवलन से हुई और अंत में आभार फिक्की फ्लो की चैयरपर्सन नेहा मित्तल ने माना।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned