सामने से गुजर रही नर्मदा लाइन, फिर भी 66 परिवारों को हर माह 70 हजार रुपए पानी पर करना पड़ रहे खर्च

सिमरन सनशाइन बिल्डिंग के रहवासी पानी के लिए हो रहे परेशान

इंदौर. शहर में शामिल हुए पीपल्याकुमार और निपानिया गांव में पानी की समस्या का निदान करने के लिए पानी की टंकी निगम ने बना दी है। इसकी डिस्ट्रीब्यूशन लाइन भी बिछा दी गई है। लेकिन इसके बाद भी यहां मौजूद एक मल्टी में रहने वाले 66 परिवार पानी के लिए तरस रहे हैं। इन परिवारों की परेशानी ये है कि इनकी मल्टी से कुछ ही मीटर की दूरी पर पानी की लाइन बिछी हुई है, लेकिन इन्हें इससे कनेक्शन तक नहीं मिल पा रहा है।
निपानिया में स्थित इस बिल्डिंग में 66 परिवार रहते हैं, लेकिन मल्टी में अभी तक नर्मदा लाइन का कनेक्शन नहीं हो पाया है। इसके कारण यहां के रहवासी पानी के टैंकर्स बुलाकर अपनी पानी की जरूरत को पूरा करते हैं। इसके लिए उन्हें लगभग 1200 रुपए महीने का अतिरिक्त खर्चा करना पड़ता है। ये पैसा यहां पानी के टैंकर्स को बुलाने के लिए करना पड़ता है। यहां के रहवासियों ने अक्टूबर 2020 में यहां पानी की लाइन जोडऩे के लिए नगर निगम में आवेदन दिया था। लेकिन इसके बाद से अधिकारी उन्हें बार-बार चक्कर ही कटवा रहे हैं। इसको लेकर बिल्डिंग के रहवासियों ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन और इंदौर-311 ऐप पर भी शिकायत की थी। इसके बाद भी इनकी समस्या का कोई निराकरण नहीं किया गया।
पहले बोले- चौराहे से लाइन दे देते हैं, बाद में मुकर गए अफसर
रहवासी संजय गुप्ता के मुताबिक रहवासियों को नगर निगम के अधिकारियों ने पहले कहा था कि मल्टी में बल्क
कनेक्शन देना होगा। ऐसे में हम आपको दूसरी पानी की टंकी की लाइन जो की मल्टी से लगभग 300 मीटर दूर चौराहे से गुजर रही है, उससे कनेक्शन दे देते हैं, लेकिन बाद में उस पर लोड होने की बात कहकर अधिकारी कनेक्शन देने से मुकर गए।
मंत्री भी नहीं दे रहे ध्यान
यह क्षेत्र इंदौर के कोरोना प्रभारी और प्रदेश के जलसंसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट की विधानसभा क्षेत्र में आता है। यहां के रहवासियों ने उन्हें भी इसकी शिकायत की थी, मंत्री ने आश्वासन दिया था कि जल्द ही उनकी समस्या का हल कर दिया जाएगा। लेकिन महीनों बीतने के बाद भी मंत्री की विधानसभा में एक मल्टी में ही लाइन नहीं डाली जा सकी।
सालभर हो गया आवेदन दिए
हम लोगों को आवेदन दिए हुए ही सालभर हो गए हैं। हमारी मल्टी के पास से नाले के दूसरी ओर से लाइन जा रही है, लेकिन अधिकारी उसमें से हमें कनेक्शन नहीं दे रहे हैं। ऐसे में हम लगातार अफसरों के चक्कर ही काट रहे हैं। जनवरी से अब तक ही हम 4 लाख रुपए केवल पानी पर ही खर्च कर चुके हैं।
- संजय गुप्ता, रहवासी

जल्द पानी पहुंचाने की कोशिश करेंगे
यहां पानी का कनेक्शन क्यों नहीं हुआ है, इसको मैं दिखवाता हूं। यदि कोई तकनीकी दिक्कत है, तो हम उसका हल निकलवाएंगे। हम जल्द से जल्द यहां पानी पहुंचाने की कोशिश करेंगे।
- अभय राजनगांवकर, अपर आयुक्त, नगर निगम

रमेश वैद्य Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned