सैयदना ने कहा कि मोहब्बत ओर अमन का पैगाम लेकर आया हु

सैयदना ने  कहा कि मोहब्बत ओर अमन का पैगाम लेकर आया हु

amit mandloi | Publish: Sep, 06 2018 04:35:47 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

सैयदना ने कहा कि मोहब्बत ओर अमन का पैगाम लेकर आया हु। में इमाम हुसैन का जिक्र करने आया हु।

इंदौर. बोहरा समाज के धर्मगुरु सैयदना साहब गुरुवार सुबह इंदौर पहुंचे। 11.20 पर सैयदना मंच पर पहुंचे। उनके मंच पर आते ही समाज के लोगों ने हाथ उठाकर दीदार का सबब से नवाजा। मोल मोल मुफडल मोल के नारों से पांडाल गूंज उठा। समाजजनों ने इमाम हुसैन का मातम कर मोल स्वागत किया। स्वागत भाषण मोहलिम ने जिगर किया और कहा कि आपका दीदार पाकर ईद की खुशी पाई। सैयदना ने कहा कि मोहब्बत ओर अमन का पैगाम लेकर आया हु। में इमाम हुसैन का जिक्र करने आया हु। 52 वे धर्म गुरु यहाँ बार बार आते थे। उन्होंने ही इंदौर में दो बार यहाँ मोहर्रम किये। यह उन्हें बहुत ख़ुशी होती थी। आपके लिए दुआ की। आपकी मोहबत मुझे यहाँ खीचकर लाई है। मेहमानों की मेहमान नवाजी करे। खुद हर मुश्किल आसान करे। इंदौर बहुत अच्छा है। शहर साफ है पर दिल भी साफ रखो। सभी कोम के साथ मिलजुलकर रहो।

महापौर ने कहा शहर वासियों की ओर से अभिनंदन करती हूं। कई वर्षों से इंतजार था। पूरे देश मे इंदौर दो बार प्रथम आया है। बोहरा समाज का योगदान रहा। बड़े सैयदना ने मेरे पति को एक कलम भेट की थी। जो आज में मैने संभाल कर रखी है। हमे तीसरी बार इंदौर को नंबर वन बनाना है। घर से कम कचरा निकले। घर मे ही खाद बने। प्लास्टिक का उपयोग कम हो। आपके माध्यम से समाज को आग्रह करती हूं। सैयदना का आशीर्वाद भी इसके लिए चाहिए।

सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि हर 2 किलोमीटर में अलग अलग धर्म है लेकिन अनेकता में एकता है। यह देश फूलो का गुलदस्ता है तो बोहरा समाज इसकी खुशबू है। हिंदुस्तान अगर दूध है तो बोहरा समाज मिठास है। समाज आपके निर्देशन में नियम और अनुशासन में है। केवल अपने लिए नही सिर्फ अपने लिए नही समाज और देश के लिए जीना है। एक दिन भोपाल के लिये आमंत्रित किया।

कांतिलाल ने कहा कि सैयदना ने मुझे शाल ओढ़ाकर सम्मान किया था जिसे संभलकर रखा है। न बॉयज पर पैसा देते है न लेते है यह हिंदुस्तान की शान है। बोहरा समाज सबसे ईमानदार कोम है।

 

Ad Block is Banned