लोन के लिए इंटरनेट पर ऑनलाइन सर्च किया, ठग ने ओटीपी प्राप्त कर उड़ाए 40 हजार

लोन के लिए इंटरनेट पर ऑनलाइन सर्च किया, ठग ने ओटीपी प्राप्त कर उड़ाए 40 हजार
लोन के लिए इंटरनेट पर ऑनलाइन सर्च किया, ठग ने ओटीपी प्राप्त कर उड़ाए 40 हजार

Hussain Ali | Publish: Aug, 23 2019 01:18:00 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

भंवरकुआ थाना क्षेत्र का मामला, चार लाख लोन देने का लालच देकर ऑनलाइन 10 रुपए रजिस्ट्रेशन शुल्क कराया जमा

 

इंदौर. शहर में ऑनलाइन ठगी के मामले में बढ़ते जा रहे है। इस बार ठग ने नए तरीके से एक जरूरतमंद व्यक्ति को अपना निशाना बनाया। इंटरनेट पर व्यक्ति के सक्रिय होते ही ठग ने उनसे फोन पर संपर्क किया। फिर लाखों का लोन देने का लालच देकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुल्क प्राप्त किया। फिर बहाने से कई बार वन टाइम पासवर्ड प्राप्त कर हजारों की चपत लगा दी। मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया है।

must read : संदीप तेल हत्याकांड : मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार, दो पुलिसकर्मी घायल, जयपुर में होगी पूछताछ

टीआई संजय शुक्ला के मुताबिक फरियादी राजकुमार नामदेव निवासी पालदा की शिकायत पर बुधवार को कार्पोरेशन बैंक के खाता धारक आरोपी मन्टु राय पिता लक्ष्मीराय निवासी दुमका, झारखंड के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है। नामदेव ने होम लोन के लिए पैसा बाजार डॉट कॉम पर सर्च किया। जानकारी के साथ आवेदन भरने के बाद उन्हें ठग का फोन आया। बातचीत में उसने लोन राशि के बारे में पूछा। तब उन्होंने साढ़े तीन लाख होन लोन के लिए आवेदन भरना बताया। शातिर ठग ने उन्हें बातचीत में उलझाया। कहने लगा आपने कभी लोन लिया है। उन्होंने टू व्हीलर लोन लेकर भरना बताया। इस पर ठग ने उन्हें साढ़े तीन लाख की जगह उन्हें चार लाख लोन दिलाने की बात कही। बात के दौरान ठग ने उनसे एक फर्जी वेबसाइट जिसका नाम बजाज से था, उसमें दस रुपए रजिस्ट्रेशन शुल्कजमा कराने के साथ वाट्सएेप पर दस्तावेज भी मंगवाए।

must read : ससुर को मारने के लिए खाने में धीमा जहर दे रही थी बहू, बेटे ने स्टिंग ऑपरेशन से पकड़ी घिनौनी करतूत

इस तरह उड़ा दिए खाते से रुपए

ठग ने फरियादी को बातचीत में बताया कि उन्होंने दस रुपए की जगह उसके कंपनी खाते में 9,999 रुपए भेज दिए हैं। वह दस रुपए काट बाकि राशि उनके खाते में भेजना चाहता है। फिर कहने लगा आपके मोबाइल पर जो ओटीपी वन टाइम पासवर्ड आएगा उसके बारे में बताना। एक ओटीपी प्राप्त करने के बाद उसने कहा आपके खाते में रुपए आ गए हैं आप जांच लें। शिकायतकर्ता ने मना किया तो फिर से ठग ने रुपए भेजने के लिए ओटीपी मांगे। चालीस हजार रुपए खाते से कट जाने पर ठग की असलियत उजागर हो गई।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned