video: सुरंग... जहां से निकलेगी दाहोद की राह

video: सुरंग... जहां से निकलेगी दाहोद की राह

Sanjay Rajak | Updated: 14 Jun 2019, 11:33:31 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

इंदौर-दाहोद रेल प्रोजेक्ट: छुकछुक के लिए बन रही सुरंग का नजारा सबसे पहले खास आपके लिए लेकर आया न्यूज टुडे

संजय रजक@इंदौर.पश्चिम रेलवे के महत्वकांक्षी रेल प्रोजेक्ट इंदौर-दाहोद रेल लाइन को तेजी से पूरा किया जा रहा है। इसका 30 फीसदी काम पूरा हो चुका है। पीथमपुर के पास ट्रेन की राह में रोड़ा बनी तकनीकी दिक्कतों को भी दूर कर लिया गया है। अब यहां 2.85 किमी लंबी सुरंग का निर्माण किया जा रहा है। खुशी की बात धार की जनता के लिए है, कि जब इस सुरंग का काम पूरा होगा, धार तक रेलवे लाइन बिछाई जा चुकी होगी। कुल मिलाकार 2021 में इंदौर से धार के बीच रेल सफर मुमकिन होगा।

इंदौर-दाहोद रेल लाइन प्रोजेक्ट की नींव पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह ने वर्ष 2008 में रखी थी। कई वर्षो तक प्रोजेक्ट कागजों और रेल अफसरों की मीटिंग में ही घूमता-झूलता रहा। पिछले कुछ बरसों से इसको गति मिली। 204.76 किमी के इस प्रोजेक्ट में 17 गांव-शहर में नए स्टेशन बनाए जाएंगे। और सीधे तौर पर पीथमपुर, सागौर, गुनावद, धार, तिरला, अमझेरा, सरदारपुर, राजगढ़़, पानपुरा, उमरकोट, अंबलवानी, फतेहपुरा, झाबुआ, पिलोट, कतवारा शहर और कस्बे की वाम रेल सेवा का उपयोग कर पाएगी।

 

घरों के नीचे से सरपट दौड़ेगी ट्रेन

एकता नगर के अलावा दोनों ओर पी-1 और पी-2 सिरे से विपरीत दिशा में खुदाई का काम किया जा रहा है। 2.85 किमी लंबे हिस्से में कई जगह मकान व अन्य निर्माण जमीन पर है, जबकि इसी के 60 फीट नीचे ट्रेन के लिए राह तैयार की जा रही है। धार की ओर पी-2 सुरंग में 130 मीटर और इंदौर की ओर पी-1 में 100 मीटर की खुदाई हो चुकी है। हर दिन 1 से 2 मीटर की खुदाई हो रही है।

 

indore

15-20 कर्मचारी व मशीनें ऑन ड्यूटी

सुरंग के अंदर एक समय में 15 से 20 कर्मचारी और मशीनें लगातार काम कर रही हैं, इसलिए सुरक्षा के इंतजाम भी जरूरी हैं। यहां सुरंग में ताजी हवा के लिए वेंटिलेशन सिस्टम लगा है, जो कि अंदर की हवा को बाहर और ऑक्सीजन को अंदर भेजता है। कम्युनिकेशन के लिए वॉकी-टॉकी सिस्टम है। बिना सेफ्टी उपकरण के लेबर को अंदर नहीं जाने दिया जाता है।

indore

 

तीन हिस्सों में चल रहा निर्माण

करीब 150 करोड़ रुपए की लागत से बन रही इस 2.85 किमी लंबी सुरंग निर्माण का कांट्रेक्ट आंध्रप्रदेश की एसएसएनआर प्रोजेक्ट्स प्रालि को दिया गया है, जो उत्तर-पूर्व इलाकों में आधा दर्जन से ज्यादा सुरंगें बना रही है। पीथमपुर चौपाटी के पास इस सुरंग को तीन हिस्सों में एक साथ बनाया जा रहा है। एकता नगर में सेंटर पॉइंट बनाया गया है। यहां से दोनों दिशाओं में सुरंग के लिए खुदाई की जा रही है।

-इंदौर-दाहोद रेल लाइन प्रोजेक्ट का काम तेजी से पूरा किया जा रहा है। टनल का काम तीन हिस्सा में चल रहा है। इसे जल्द पूरा करने के लिए बीच में कट कर चार हिस्सों में काम किया जाएगा। टनल पूरी होने में कम से कम दो वर्ष का समय लगेगा।
आरएन सुनकर, डीआरएम, रतलाम मंडल

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned