गजब! जल एटीएम से गांव वाले ५० पैसे प्रति लीटर ले रहे पेयजल

amit mandloi

Publish: Oct, 13 2017 09:10:57 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
गजब! जल एटीएम से गांव वाले ५० पैसे प्रति लीटर ले रहे पेयजल

एटीएम, शुध्द पेयजल लोगों को उपलब्ध करवाया जाता है। इसकी कीमत भी ५०-६० पैसे प्रति लीटर होती है, शुध्द पेयजल के लिए कोदरिया पंचायत ने शुरू किया अनूठा

यह जल एटीएम है। इससे शुध्द पेयजल लोगों को उपलब्ध करवाया जाता है। इसकी कीमत भी ५०-६० पैसे प्रति लीटर होती है। हमारे गांव में तो १५ से २० लीटर की केन ३० रुपए में मिल रही है, दो एटीएम किए शुरू, एक चलित, दूसरा पंचायत भवन के पास
इंदौर. नल से शुध्द जल उपलब्ध करवाने का तो सभी ने सुना है। रेलवे स्टेशनों पर शुध्द जल के लिए एटीएम की तरह लगी मशीन के बारे में भी हम सभी जानते हैं, लेकिन घर-घर शुध्द जल पहुंचाने के लिए चलित एटीएम मशीन के अनूठे प्रयोग के बारे में अभी तक नहीं सुना होगा। महू के समीप कोदरिया गांव में शुध्द पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए दो एटीएम मशीन का उपयोग किया जा रहा है। पंचायत ने एक मशीन स्थाई और एक चलित शुरू की है। चलित मशीन मोहल्लों में पहुंच कर पानी का वितरण करती है। लोग शुध्द पेयजल के लिए हाथ में सिक्के लेकर लाइन मंे खड़े रहते हैं, मशीन आने पर ५० पैसे प्रति लीटर का शुध्द पानी खुशी से खरीद रहे हैं।


दरअसल, गांवों में पानी तो उपलब्ध होता है, लेकिन इसकी गुणवत्ता और शुध्दता नहीं होती है। यही पानी बीमारियों का कारण भी बनता है। पंचायत की सरपंच अनुराधा जोशी का कहना है, पंचायत काफी दिनों से लोगों को शुध्द पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए सोच रही थी। प्लांट लगाने में काफी खर्च आ रहा था। पिछले दिनों चेन्नई जाना हुआ, वहां पर देखा कि, लोग एक मशीन में सिक्का डालते है, उसमें नल से पानी आना शुरू हो जाता है। अपनी जरूरत पुरता पानी केन में ले कर चलते बनते है। मशीन के बारे में पूरी जानकारी ली तो बताया गया, यह जल एटीएम है। इससे शुध्द पेयजल लोगों को उपलब्ध करवाया जाता है। इसकी कीमत भी ५०-६० पैसे प्रति लीटर होती है। हमारे गांव में तो १५ से २० लीटर की केन ३० रुपए में मिल रही है। चेन्नई से लौटने के बाद मशीन के बारे में काफी खोजबीन की। लोगोंं से बातचीत की, लेकिन छोटे गांव में कोई लगाने को तैयार नहीं हो रहा था। नासिक की जीवनधारा कंपनी मिली, उनसे चर्चा की, लेकिन वह भी पहले तो तैयार नहीं हुए, कहने लगे छोटे गांवों में नहीं लगाते हैं। उन्हें बताया गया, गांव की आबादी २५ हजार के आसपास है, अधिकांश लोग शुध्द पेयजल चाहते हैं। सर्वे हुआ, पीपीपी मॉडल पर इसे लगाया गया। एक पंचायत कार्यालय के समीप स्थाई प्लांट है, दूसरा चलित है। जिससे डोअर-टू-डोअर पेयजल पहुंचाया जा रहा है। यह व्यवस्था पहले तो एक प्लांट पर प्रयोग के तौर पर शुरू की गई। ९ अक्टूबर से चलित मशीन भी शुरू कर दी गई है। इसका बहुत फायदा लोग ले रहे हैं। उन्होंने बताया, कंपनी इससे होने वाले प्रॉफिट का १० प्रतिशत पंचायत को देगी।

 

कार्ड की सुविधा भी है, १५० रुपए का रिचार्ज कार्ड भी दिया जाता है। इससे २० लीटर पानी के लिए ८ रुपए लिए जा रहे हैं। मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले लोगों का कहना है, एटीएम से शुध्द पानी सस्ता है, क्योंकि एक बार बीमार होने पर इससे ज्यादा पैसे तो इलाज मंें लग जाते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned