कोरोना से जंग जीतकर लाड़ली भांजी के लिए फिर अस्पताल पहुंचे मामा

परिवार के 8 में से 7 सदस्यों को कर दिया था डिस्चार्ज, अकेली रह गई थी बच्ची

By: Mohit Panchal

Published: 05 May 2020, 10:56 AM IST

इंदौर। कोरोना संक्रमण इलाज के सात दिन बाद परिवार के आठ सदस्यों में से सात की कल छुट्टी कर दी गई। १० साल की बिटिया की रिपोर्ट नहीं आने पर उसे नहीं छोड़ा गया। भांजी को अकेला देख मामा भी अस्पताल में रुक गए।

कांग्रेस नेता राजिक खान की कोरोना से मौत हो गई थी। परिवार के ८ सदस्य भी कोरोना पॉजिटिव आए। १७ अप्रेल को सभी को अरबिंदो अस्पताल में भर्ती किया था। लगातार दो रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ७ सदस्यों को कल डिस्चार्ज कर दिया। १० साल की बेटी की रिपोर्ट नहीं आने की वजह से उसेे नहीं छोड़ा। प्रबंधन ने कहा कि कल तक रिपोर्ट आएगी, जिसके बाद वह डिस्चार्ज करेंगे।

परिवार के जाने से मासूम के आंसू बंद नहीं हो रहे थे। मां के पास छह माह की बच्ची होने से वह भी नहीं रुक पाई। इस पर मामा साजिद रायल ने भांजी के लिए अस्पताल प्रबंधन से कहा कि वह अकेली रह नहीं पाएगी। उसकी रिपोर्ट आने तक उन्हें भी यहां रहने दिया जाए। बच्ची की स्थिति और भावनाओं को देखते हुए उन्हें रहने की अनुमति दे दी गई।

Show More
Mohit Panchal Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned