सरकार की नई योजना, अब सस्ते में मिलेंगी दवाईयां

सरकार की नई योजना, अब सस्ते में मिलेंगी दवाईयां

Dimple Alawadhi | Publish: Mar, 06 2019 04:43:18 PM (IST) | Updated: Mar, 06 2019 04:43:19 PM (IST) इंडस्‍ट्री

  • 2020 तक देश भर में सस्ती दवाओं की 2500 और जन औषधि दुकानें खोली जाएंगी।
  • इस समय ऐसी 5000 से अधिक दुकानें पहले से चल रही हैं।
  • सरकार ने हर ब्लॉक में दवाओं कि ऐसी कम से कम एक दुकान खोलने की योजना तैयार की है।

नई दिल्ली। सरकार ने बुधवार को कहा कि 2020 तक देश भर में सस्ती दवाओं की 2500 और जन औषधि दुकानें खोली जाएंगी। इस समय ऐसी 5000 से अधिक दुकानें पहले से चल रही हैं। सरकार ने हर ब्लॉक में दवाओं कि ऐसी कम से कम एक दुकान खोलने की योजना तैयार की है। जहां से लोगों को मुनासिब दाम पर अच्छी दवाइयां उपलब्ध होंगी।

यह भी पढ़ें: 10 रुपए सस्ते में LPG सिलेंडर भरवाने का शानदार ऑफर, बस करना होगा ये छोटा सा काम


इस परियोजना के तहत उठाया जा रहा कदम

केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री मनसुख एल मांडविया ने यहां संवाददाताओं से कहा कि, 'देश भर में प्रधानमंत्री भारतीय जनौषधि परियोजना के तहत जन औषधि केंद्रों की संख्या 5000 से ऊपर पहुंच गई है। 2020 तक देश भर में ऐसे 2,500 और स्टोर खोलने की योजना है। हमारा लक्ष्य हर प्रखंड स्तर पर कम से कम एक जन औषधि दुकान स्थापित करना है।'

यह भी पढ़ें: PNB की नई स्कीम, 10 हजार रुपए निवेश करने से 111 दिन बाद मिलेंगे इतने ज्यादा पैसे


दुकानों से सस्ते में मिलेंगी दवाएं

मंडाविया ने लोगों से जरूरत की दवा नजदीक के जन औषधि केंद्र से खरीदने की अपील की। उन्होंने कहा कि इन केंद्रों से दवा सस्ती पड़ती है। इसका फायदा जनता को मिलना चाहिए। मंत्री ने कहा कि आज मरीज के इलाज में 70 फीसदी धन दवाओं पर खर्च होता है। उन्होंने कहा सामान्य गुण की दवाओं की मांग बढ़ रही है। जनौषधि केंद्र से हर रोज 10 से 15 लाख लोग दवाएं ले रहे हैं। प्रधानमंत्री भारतीय जनौषधि परियोजना के तहत ऐसी दुकानों पर 800 से अधिक दवाएं और ऑपरेशन में काम आने वाले 154 चिकित्सा सामान उपलब्ध कराए जाते हैं।


(ये कॉपी भाषा से ली गई है।)

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned