पसीना पोंछ रही थी दुल्हन की मां, इतने में उड़ा दिया था जेवर से भरा बैग

पसीना पोंछ रही थी दुल्हन की मां, इतने में उड़ा दिया था जेवर से भरा बैग

Sandeep Nayak | Publish: Jul, 14 2018 09:59:22 AM (IST) Itarsi, Madhya Pradesh, India

मां, बहन और भाई के साथ मिलकर उड़ाए थे जेवरमाहेश्वरी भवन में हुई थी चोरी

इटारसी. जेवर से भरा बैग सांसी गिरोह के एक सदस्य के १३ वर्षीय भाई ने पार किया था। इसके बाद जेवर से भरा बैग गिरोह का सरगना लेकर फरार हो गया था। इस आरोपी को पुलिस ने जेवर सहित गिरफ्तार कर लिया है। इस चोरी की वारदात में आरोपी की मां और बहन भी शामिल थी।


जिला राजगढ़ थाना बोड़ा ग्राम कडिय़ा निवासी अरुण पिता चंद्रा सिसौदिया उम्र २१ को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी ने अपनी मां, बहन और तेरह वर्षीय भाई के साथ मिलकर ९ जुलाई को माहेश्वरी भवन में एक विवाह समारोह के दौरान चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। आरोपी सांसी गिरोह का सदस्य है। जो इस वारदात का मास्टर माइंड है।


ऐसे दिया वारदात को अंजाम
सांसी गिरोह के सदस्य अरुण सिसौदिया ने पहले शहर में घूककर इस बात की जानकारी ली की कि कहां पर विवाह समारोह है। उसे माहेश्वरी भवन में विवाह समारोह होते दिखाई दिया तो पहले से ट्रेंड उसकी मां, बहन और भाई को विवाह समारोह में भेजा। यह सभी लोग वैटर की तरह काम करने लगे। सभी वैटर का काम करते हुए अपना ध्यान दुल्हन की मां पर केंद्रित रखा। जब दुल्हन की मां सावित्री बाई मालवीय रूम नंबर ३ में थी तो उन्होंने जैसे ही अपना बैग रखकर पसीना पोंछते हुए पानी पीने लगीं इसी दौरान आरोपी के तेरह वर्षीय भाई ने बैग पार कर दिया। बाद में यह बैग उसने अपने भाई आरोपी अरुण सिसोदिया को दे दिया जो यह बैग लेकर फरार हो गया है। पुलिस ने बताया कि इसे हरदा स्टेशन के आउटर से गिरफ्तार किया है। आरोपी को पकडऩे में एसआई जय नलवाया, एएसआई संजय रघुवंशी, आरक्षक भूपेश मिश्रा, आरक्षक भागवेंद्र सिंह की भूमिका मुख्य रही।


तरीके से लगाया अंदाज
एसडीओपी अनिल शर्मा ने बताया कि चोरी के बाद जब जानकारी जुटाई गई तो बोड़ा जिला राजगढ़ के ग्राम कडिय़ा और गुलखेड़ी के सांसी गिरोह के मूवमेंट का पता चला। पुलिस टीम बनाकर सर्चिंग की गई तो हरदा स्टेशन के आउटर पर संदेह के आधार पर एक युवक को पकड़ा और पूछताछ की। यह आरोपी अरुण सिसौदिया था इसने चोरी की वारदात करना कबूल किया। आरोपी सांसी गिरोह का सक्रिय सदस्य है। इस आरोपी ने बीना, देवास, इंदौर, हरियाणा में वारदात को अंजाम दिया है यहां इस पर मामले दर्ज हैं।


२ लाख के जेवर बरामद
आरोपी अरुण सिसौदिया के कब्जे से सोने का एक हार, एक मंगलसूत्र, एक जोड़ी कंगन, छह मोती, चांदी का एक करधौना, एक जोड़ी चांदी की पायजेब, चार चांदी की बिछिया, मोबाइल बरामद की गई है। आरोपी के पास से नगद नहीं मिले हैं जो पुलिस के अनुसार २० हजार रुपए थे उसने खर्च कर दिए हैं। इधर परिवार के सदस्यों के अनुसार नगद डेढ़ लाख रुपए थे।


परिवार ने उस दिन ये बताई थी कहानी
पिपलानी भोपाल निवासी सावित्री बाई पति सुरेन्द्र मालवीय 60 वर्ष ने बताया था कि बैग में सोने-चांदी के गहने, एक मोबाइल, नगद डेढ़ लाख रुपए रखे हुए थे। बैग चोरी होने के बाद बैग की तलाश की गई। इस दौरान यहां दो युवक थे जो वैटर का काम कर रहे थे। इन युवकों को किसी ने नहीं बुलाया था। एक युवक बैग लेकर फरार हो गया था जबकि दूसरा भागने का प्रयास कर रहा था। इस युवक को पकड़कर पुलिस के हवाले किया गया है।

अभी इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। इससे चोरी गए जेवर बरामद हो गए हैं। आरोपी के परिवार के बाकी सदस्यों की तलाश की जा रही है।
विक्रम रजक, टीआई इटारसी

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned