विधायक ने दखलनदाजी की तो मंडी सचिव ने दिखाया कोर्ट का आर्डर

आखिर मंडी परिसर से हटाए गए पुजारी नरेंद्र शास्त्री
मंडी प्रशासन ने हटाया पुजारी नरेंद्र शास्त्री का आवास

इटारसी. कृषि उपज मंडी परिसर से सोमवार को पंडित नरेंद्र शास्त्री को आवास हटा दिया गया है। इस दौरान विधायक भी पहुंचे थे लेकिन सचिव ने कोर्ट का आदेश दिखाया।

सोमवार दोपहर में मंडी परिसर में स्थित पुजारी नरेंद्र शास्त्री का आवास था। इसे मंडी कर्मचारियों द्वारा हटाया गया। इस दौरान विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा पहुंचे। कर्मचारियों ने कहा सचिव के आदेश पर हटा रहे हैं। इसके बाद कर्मचारियों ने सचिव उमेश शर्मा को बुलाया। सचिव उमेश शर्मा ने आकर बताया कि कोर्ट का आदेश है। कोर्ट का आदेश दिखाने के बाद विधायक शर्मा मंडी परिसर में चले गए। इस दौरान पुलिस को सूचना मिली थी। सूचना मिलने के बाद पुलिस भी पहुंच गई थी।

यह है पूरा मामला
कृषि उपज मंडी में एक शिकायत के बाद एसडीएम ने यहां तैनात सुरक्षा गार्डों की जांच की थी। जांच में सुरक्षा गार्डों के नाम में पुजारी नरेंद्र शास्त्री भी वेतन ले रहे थे। पिछले साल एसडीएम हरेंद्र नारायण ने जांच के बाद पुजारी नरेंद्र शास्त्री को वसूली का नोटिस दिया था साथ ही मंदिर के पीछे से बनाए गए निवास को खाली करने के आदेश दिए थे। इस आदेश के बाद पुजारी नरेंद्र शास्त्री कोर्ट चले गए थे। कोर्ट ने उनकी बात नामंजूर कर दी और इसे वैध नहीं माना। नरेंद्र शास्त्री ने आवास छोड़ दिया था सोमवार को इस आवास को हटाया गया।

पुजारी नरेंद्र शास्त्री कोर्ट का आदेश मानकर पहले ही निवास खाली कर चुके थे। सोमवार को आवास हटाया गया है। विधायक आए थे उन्हें कोर्ट का आदेश दिखाया गया इसके बाद वह चले गए।
उमेश शर्मा, सचिव कृषि उपज मंडी इटारसी

krishna rajput
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned