4 हजार स्कूलों में छात्र शिक्षक मिलकर कर रहे शौचालय साफ , 26 सौ को स्टार रैंकिग

प्रदेश में बने मिशाल , 2611 स्कूलों को नवाजा गया स्टार श्रेणी से, यहां प्राचार्य शिक्षक और छात्र मिलकर साफ करते हैं शौचालय, 9 हजार स्कूलों का कराया गया सर्वे, पिछले साल शुरू हुई थी जिले से शुरुआत

By: Mayank Kumar Sahu

Published: 03 Jan 2020, 12:04 PM IST

स्टार केटेगरी के स्कूल

पांच स्टार-38

चार स्टार-878

थ्री स्टार-1328

दो स्टार-292

एक स्टार-75

......

जिला-एक स्टार-दो स्टार-एक और दो स्टार

बालाघाट-120-255-375

छिंदवाड़ा-135-470-605

डिंडौरी-144-304-448

जबलपुर-61-212-273

कटनी-98-267-365

मंडला-168-427-595

नरसिंहपुर-78-271-349

सिवनी-266-663-929

.....

 मयंक साहू @ जबलपुर.

जब हम खुद अपने घर के शौचालयों को मिलकर साफ कर सकते हैं तो फिर हम अपने स्कूल के शौचालयों को क्यों नहीं कर सकते..। कुछ इसी जज्बे के साथ मेरी शाला मेरी जिम्मेदारी अभियान के तहत शुरूआत की गई एक छोटी सी मुहिम आज रंग लाई। जबलपुर के एक दर्जन स्कूलों को मोटीवेट कर शौचालय साफ करने की हुई शुरुआत संभाग के आठ जिलों तक जा पहुंची। इच्छाशक्ति के बल पर आज जबलपुर संभाग के 3 हजार 939 स्कूलों में शिक्षक और छात्र मिलकर खुद शौचालयों की सफाई कर रहे हैं। इन स्कूलों के शौचालयों को और बेहतरीन बनाकर अब 26 सौ से अधिक स्कूलों को स्टार श्रेणी दी गई है। स्कूल के प्राचार्य से लेकर शिक्षकों ने नियमित सफाई के लिए प्रतिदिन का समय तय किया है।

9 हजार स्कूलों नें की शुरुआत

जानकारों के अनुसार जबलपुर संभाग में 20 हजार 517 स्कूल संचालित हैं। इन स्कूलों में से 9 हजार 800 स्कूलों में स्वच्छ विद्यालय के तहत स्कूलों के शौचालयों को साफ करने का बीड़ा उठाया। इन स्कूलों में भी सफाई को लेकर मार्किंग की गई। जिसमें संभाग के 3 हजार 939 में शौचालयों को नियमित सफाई शुरू हुई। इसमें से करीब 28सौ से अधिक स्कूलों को दो स्टार श्रेणी से नवाजा गया है। इस तरह एक से लेकर पांच स्टार तक स्कूलों को दिए गए हैं।

ऐसे हुई शुरुआत, यूनिसेफ से कराया सर्वे

मेरी शाला मेरी जिम्मेदारी के तहत 27 मई 2019 से मुहिम के माध्यम से तत्कालीन संभागायुक्त राजेश बहुगुणा एवं वर्तमान संभागीय संयुक्त संचालक राजेश तिवारी द्वारा संभाग का दौरा कर स्कूलों को प्रोत्साहित किया गया। 9 हजार स्कूलों को यूनिसेफ एवं स्वच्छ भारत अभियान के तहत सर्वे कराया गया। 66 फीसदी स्कूलों का सर्वे कर स्कूल शिक्षा विभाग को रिपोर्ट प्रस्तुत की गई।

26़11 स्कूलों को मिली स्टार श्रेणी

स्कूलों के शौचालयों की सफाई को लेकर स्टार श्रेणी से हाल ही में इन स्कूलों को नवाजा गया है। 1 स्टार से लेकर 5 स्टार तक दिए गए हैं। जबलपुर संभाग के 2611 स्कूलों को स्टार श्रेणी के स्कूलों में शामिल किया गया है। सबसे ज्यादा तीन स्टार प्राप्त करने में स्कूल सपल हो सके हैं।

-बच्चों में स्वच्छता को अपनाने के लिए लगातार प्रयास किए गए। प्राचार्यों बच्चों को मोटीवेट किया गया। आज हमारे 26 सौ से अधिक स्कूलों ने स्वच्छता में मिशाल कायम कर इन्हें स्टार रैंकिंग से नवाजा गया है। हमारी कोशिश है कि सभी स्कूलों को चार से पांच श्रेणी में लाया जाए।

-राजेश तिवारी, संभागीय संयुक्त संचालक शिक्षा

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned