बड़ी खबर: इन नेताओं को सेना के अफसरों ने बेची 50 एके-47, ये नाम आए सामने!

बड़ी खबर: इन नेताओं को सेना के अफसरों ने बेची 50 एके-47, ये नाम आए सामने!

Lalit kostha | Publish: Sep, 05 2018 09:33:18 AM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

बड़ी खबर: इन नेताओं को सेना के अफसरों ने बेची 50 एके-47, ये नाम आए सामने!

जबलपुर. बिहार में तीन एके-47 रायफल और उसके पाट्र्स के साथ दबोचे गए इमरान के खुलासे में सामने आए पुरुषोत्तमलाल को क्राइम ब्रांच और एटीएस की टीम ने रीवा जिले के मनगवां थाना क्षेत्र अंतर्गत बैकुंठपुर से पकडऩे में सफलता हासिल की, लेकिन पुरुषोत्तम लाल से जो चौंकाने वाली जानकारियां मिलीं, उसके बाद इतने संवेदनशील हथियारों की आसान पहुंच से जांच एजेंसियों की भी भौंहे तन गई हैं। सेंट्रल ऑर्डिनेंस डिपो में शस्त्रसाज (आरमरर) के पद से वर्ष-2008 में सेवानिवृत्त पुरुषोत्तम लाल सेना के दूसरे साथियों के साथ मिलकर अब तक करीब 50 एके-47 रायफल पांच-पांच लाख रुपए में बेच चुका है। उधर, बिहार के मुंगेर गई क्राइम ब्रांच की टीम इमराम को ट्रांजिट रिमांड पर जबलपुर लाने की प्रक्रिया में जुटी है।

news fact-

क्राइम ब्रांच की कार्रवाई: पूछताछ में 50 रायफल बेचने का खुलासा
अपराधियों को एके-47 बेचता था रिटायर्ड आर्मरर, रीवा से गिरफ्तार
सात से आठ सेना के अधिकारी और जवानों के भी शामिल
होने का संदेह इंटेलीजेंस एजेंसियां सक्रिय

सूत्रों के अनुसार मुंगेर गई क्राइम ब्रांच की टीम को जमालपुर पुलिस से कई अहम जानकारियां मिली थीं। इसके बाद टीम जेल में इमरान से मिली तो कई खुलासे हुए। इसकी जानकारी जिले के पुलिस अफसरों को दी गई और पुरुषोत्तम लाल की तलाश शुरू की गई। उसके बारे में इतनी ही जानकारी थी कि वह सीओडी से रिटायर्ड शस्त्रसाज है। पूछताछ में सामने आया कि पुरुषोत्तम 20 एके-47 रायफल तो सिर्फ रीवा और आसपास के बदमाशों को बेची है। वहीं, 30 के लगभग यूपी-बिहार के अलग-अलग जिलों में बेचा है। कुछ सफेदपोशों ने भी एके-47 खरीदी हैं। इस सनसनीखेज खुलासे के बाद डीजीपी भी मामले में नजर बनाए हुए हैं। सेना इंटेलीजेंसी भी सक्रिय हो गई है।

party leader of bjp, party leader mms, party leaders viral videos, viral video youtube, army officer mms viral video, AK-47 gun, weapon found at party leader,

ऐसे हुआ खुलासा
मुंगेर पुलिस ने 29 अगस्त को जमालपुर के जुबली वेल चौक से मिर्जापुर बरदह निवासी मो.इमरान को तीन एके-47 रायफल, 30 एके-47 के मैगजीन, सात पिस्टल, सात स्प्रिंग, सात बॉडी कवर, सात रिक्वायल स्प्रिंग, सात ब्रीज ब्लॉक के साथ गिरफ्तार किया था। सभी रायफल फैक्ट्री मेड हैं, लेकिन उस पर आर्सलर नम्बर अंकित नहीं है। जबकि फैक्ट्री मेड होने पर यह अनिवार्य रूप से लगाया जाता है। एके-47 रायफल की पाट्र्स में निकाले गए थे।

जिला सैनिक कल्याण बोर्ड से निकाला पता
पुलिस के अधिकारियों ने जिला सैनिक कल्याण बोर्ड से रिटायर्ड पुरुषोत्तम लाल की जानकारी खंगाली। मालूम हुआ कि पुरुषोत्तमलाल गोरखपुर थाना क्षेत्र में रहता है और किराने की दुकान चलाता है। टीम उसके घर पहुंची तो वहां ताला था। इसके बाद उसके टीम ने रीवा में मनगंवा में बैंकुंठपुर उसके पैतृक गांव में दबिश देकर पकड़ा।

पूछताछ के बाद एक और जवान हिरासत में
पुरुषोत्तमलाल से पूछताछ के बाद क्राइम ब्रांच ने उसके एक और सहयोगी को गिरफ्तार किया। यह 2012 में सेवानिवृत्त हुआ है। इसके अलावा सात अन्य सीओडी के अधिकारियों और जवानों की जानकारियां मिली हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए भी अलग-अलग टीमें लगातार दबिश दे रही हैं।

तस्दीक की जा रही है
मुंगेर पुलिस और उसके द्वारा गिरफ्तार इमरान से पूछताछ के बाद पुरुषोत्तमलाल को गिरफ्तार किया गया है। वह सीओडी में आरमरर पद से रिटायर्ड है। पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासा हुए हैं। उसकी तस्दीक की जा रही है।
- अमित सिंह, पुलिस अधीक्षक

Ad Block is Banned