गजब का वारंटी, पुलिस पहुंची तो परिजन पैरों से लिपट गए

वारंटी को दबोचने पहुंची थी पुलिस, घंटों चला नाटक, जेल भेजा
चेक बाउंस के मामले में कोर्ट से जारी चार स्थाई वारंट में पुलिस को थी कई वर्षों से तलाश

By: santosh singh

Published: 29 Mar 2019, 12:21 AM IST

जबलपुर. जमीन के सौदे में फर्जी चेक देने के मामले में एक वारंटी को कृष्णा हाइट्स ग्वारीघाट से थाने तक लाने में मदन महल पुलिस को दो घंटे लग गए। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने उसके घर पहुंची तो उसके परिवार के लोग पुलिसकर्मियों के पैरों से लिपट गए। पुलिस उसे लेकर थाने पहुंची तो आरोपी का छोटा भाई और उसकी पत्नी थाने पहुंच गए। उदयपुर (राजस्थान) पुलिस को भी आरोपी की तलाश है। गुरुवार को आरोपी को जेल भेज दिया गया।
ये है मामला
टीआइ मदन महल संदीप अयाची ने बताया, कृष्णा हाइट्स ग्वारीघाट निवासी रवि किरण श्रीवास्तव के खिलाफ जमीन के सौदे में चेक बाउंस के चार प्रकरण दर्ज हैं। कोर्ट से उसके खिलाफ वर्ष 2012, 2015, 2016 और 2019 में चार स्थाई वारंट जारी किए गए हैं।
ऐसे करता था फर्जीवाड़ा
टीआई अयाची ने बताया, रविकिरण ने कुछ साल पहले शहर में बिजनेस प्रमोशन के नाम से कम्पनी खोली थी। उसने दो ऑफिस रानीताल, राइट टाउन और एक ऑफिस राजस्थान के उदयपुर में खोला था। राजस्थान में उसका पार्टनर पीयूष गर्ग था। रविकिरण जमीन का सौदा कर एडवांस में रकम लेता था। सौदा नहीं होने पर ग्राहकों को चेक के माध्यम से उनका एडवांस वापस करता था। पीडि़तों ने बैंक में चेक लगाए तो वे बाउंस हो गए। मामले में जयसिंह ठाकुर, सतीषचंद्र खत्री ने मदन महल और पार्टनर रहे पीयूष गर्ग ने राजस्थान के उदयपुर में प्रकरण दर्ज कराया था। पुलिस उसे देर रात दबिश देकर दबोची तो घरवाले उससे लिपट गए। आरोपी और घरवालों को अलग कराने में पुलिस को घंटों लग गए। थानों में भी परिवार के लोग दोपहर तक उसे छोडऩे का दबाव बनाते रहे।

 

Show More
santosh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned