सौगातः बिहार - चैन्नई के लिये सीधी ट्रेन, यहां के लोगों को मिली पहली सुपरफास्ट ट्रेन

वर्षों पुराना सपना हुआ पूरा, ट्रेन के स्वागत के लिये स्टेशन पर पहुंचे लोग, ब्रॉडगेज लाइन पर दौड़ी पहली सुपरफास्ट

By: Hitendra Sharma

Published: 04 Jan 2021, 09:33 AM IST

जबलपुर. जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज पर लम्बे इंतजार के बाद रविवार को पहली बार सुपरफास्ट ट्रेन दौड़ी। गया से चेन्नई तक जाने वाली ट्रेन जबलपुर से नैनपुर-बालाघाट-गोंदिया के रास्ते आगे के सफर पर निकली। ब्रॉडगेज परियोजना के पूरा होने के बाद इस रूट से शुरूकी गई पहली सुपरफास्ट ट्रेन बिना किसी तामझाम रवाना हुई।

रेलवे की ओर से इस रुट पर पहली इलेक्ट्रिक यात्री गाड़ी के स्वागत के लिए जबलपुर स्टेशन पर भले कोई इंतजाम नहीं थे, लेकिन रेलमार्ग में पडऩे वाले स्टेशनों के पास रहने वाले लोगों से लेकर यात्रियों के चेहरे खुशी से दमक रहे थे। नैनपुर रूट पर पडऩे वाले ग्वारीघाट सहित अन्य छोटे स्टेशन जहां पर सुपरफास्ट का ठहराव नहीं था, वहां पर भी ट्रेन गुजरने के समय पर लोग उसके स्वागत में उमड़े।

उत्तर-दक्षिण भारत की दूरी 270 किमी घटी
गया-चेन्नई एग्मोर 02389/90 अभी तक जबलपुर आकर इटारसी-नागपुर होकर बल्लारशाह की ओर जाती थी। यह ट्रेन जबलपुर-गोंदिया तक ब्रॉडगेज बन जाने से रविवार से नैनपुर-बालाघाट होकर बल्लारशाह जाएगी। सप्ताह में एक दिन चलने वाली ट्रेन गया-चेन्नई सेंट्रल के बीच चलेगी। ट्रेन को जबलपुर से बल्लारशाह के बीच नैनपुर, बालाघाट और गोंदिया में स्टॉपेज दिया है। नए रूट से जबलपुर के रास्ते उत्तर से दक्षिण भारत की दूरी 270 किमी घट गई है। यात्रा समय में लगभग पांच घंटे कम हो गए हैं।

jr04deep.png

होंगे कुल 22 कोच
रेल्वे प्रशासन के अनुसार, इस टे्रन में एसी कोच के 2 और 3, स्लीपर के 10 कोच, सेकंड सिटिंग कोच के 04, पेंट्रीकार के 01, एसएलआर के 02 सहित कुल 22 कोच होंगे। 3 जनवरी से 31 जनवरी 2021 के बीच ट्रेन क्रमांक 02389 अप प्रत्येक रविवार और 5 जनवरी से 2 फरवरी 2021 तक ट्रेन क्रमांक 02390 डाउन प्रत्येक मंगलवार को चलाई जाएगी। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे नागपुर मंडल के अंतर्गत ट्रेन क्रमांक 02389 प्रत्येक रविवार को नैनपुर से बालाघाट के लिए रात्रि 19.26 पर रवाना होगी और रात्रि 20.34 बजे पहुंचेगी। इसी तरह विपरीत दिशा में प्रत्येक मंगलवार को बालाघाट से शाम 3.45 बजे रवाना होगी और शाम 4.53 बजे नैनपुर पहुंचेगी।

चारों दिशा में दौड़ेगी ट्रेन
गौरतलब है कि नैनपुर रेलवे स्टेशन को पहले नैरोगेज के एशिया के सबसे बड़े जंक्शन का दर्जा प्राप्त था। इस स्टेशन से चारों दिशाओं में ट्रेन दौड़ती थी। अमान परिवर्तन के बाद फिर से चारों दिशाओं में ट्रेन दौड़ेगी। फिलहाल दो दिशा में ट्रेन दौड़ रही है। नैनपुर-चिरईडोंगरी के बाद मंडला और फिर सिवनी-छिंदवाड़ा तक ब्राडगेज का काम पूरा होते ही ये रेलवे स्टेशन चारों दिशाओं में स्थित बड़े शहर जबलपुर, नागपुर, गोंदिया और मंडला से पुन: जुड़ जाएगा।

Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned