पक्षियों की मौत न हुई, चंद्रकांता जैसी कहानी हो गई !

जबलपुर में नहीं पक्षियों में बर्ड फ्लू तो नहीं मिला, लेकिन मौत क्यों हो रही है इसका नहीं हो रहा खुलासा, सभी रिपोर्ट आईं निगेटिव

 

By: shyam bihari

Published: 16 Jan 2021, 08:32 PM IST

 

जबलपुर। पक्षियों की मौत जबलपुर में भी खूब हो रही हैं। लेकिन, यही नहीं पता चल रहा है कि आखिर मौतें हो क्यों रही हैं? फिलहाल जिला प्रशासन की ओर से पशुपालन विभाग के सहयोग से पक्षियों के भेजे गए सैेम्पलों की जांच के बाद भोपाल प्रयोगशाला ने रिपोर्ट निगेटिव दी है। जबलपुर में बर्ड फ्लू की कोई भी पुष्टि नहीं हुई है। डिंडोरी, मंडला और छिंदवाड़ा से भेजे गए मृत कौओं के सैम्पलों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। पॉजीटिव पाए गए तीनों ही जिलों में जिला प्रशासन को विशेष निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं। जिला कलेक्टरों को कहा गया है कि वहां विशेष सतर्कता बरती जाए। शहर में यही चर्चा है कि पक्षियों की मौत की पहले परेशान कर रही है।

जानकारों के अनुसार भोपाल स्थित हाई सिक्योरिटी इंटरनेशनल लैब से मिली रिपोर्ट में जबलपुर, कटनी और नरसिंहपुर के सैम्पलों की रिपोर्ट निगेटिव आने से स्थानीय प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है। जबकि डिंडौरी, छिंदवाड़ा, मंडला में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। भोपाल स्थित हाईस्क्यिोरिटी प्रयोगशाला प्रबंधन ने स्पष्ट रूप से कहा है कि जिन जिलों के सैम्पलों में बर्ड फ्लू की रिपोर्ट निगेटिव आई है, वहां से सैम्पल दोबारा न भेजे जाएं। इन जिलों में अभी भी पक्षियों की यदि मौत होती है तो स्थानीय निकायों द्वारा विशेष सावधानी बरतकर उनको दफन किया जाएगा। उपसंचालक पशु चिकित्सा विभाग डॉ. एपी गौतम ने बताया कि जबलपुर से भेजी गई पक्षियों के नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। अब कोई भी सेम्पल नहीं भेजे जाएंगे। मृत पक्षियों को स्थानीय प्रशासन के सहयोग से दफनाने की प्रक्रिया की जाएगी। फिर भी सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned