साहब... पत्नी पास नहीं आती, कैसे बढ़ेगा वंश

जनसुनवाई में शिकायत सुनकर हैरान रह गए कलेक्टर

By: Premshankar Tiwari

Published: 13 Mar 2018, 09:29 PM IST

जबलपुर। 'साहब! शादी हुए एक साल बीत गया, लेकिन पत्नी की वजह से परिवार में कलह रहती है। वह जब मन करे बगैर बताए मायके चली जाती है। मां चाहती है कि परिवार आगे बढ़े। वंश वृद्धि हो, लेकिन पत्नी दूरी बनाए रखती है। आप ही बताओ ऐसे में वंश कैसे बढ़ेगा?Ó एक व्यक्ति ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट की जनसुनवाई में अपनी व्यथा सुनाई, तो शिकायत सुनकर अधिकारी हैरान रह गए। पीडि़त पति अभिषेक (परिवर्तित नाम) ने बताया कि उसने अपनी व्यथा ससुराल वालों को भी बताई। लेकिन, समस्या का निराकरण नहीं हुआ। उसकी पत्नी कामकाज में सास की मदद भी नहीं करती। अभिषेक ने गुहार लगाई कि अगर उसकी पत्नी भविष्य में कोई झूठी शिकायत या कानूनी कार्रवाई करती है, तो उसके पक्ष का भी ध्यान रखा जाए।

घर में लगी आग में जल गए नोट
खितौला निवासी देव नारायण मेहरा ने जनसुनवाई में बताया कि दिन-रात मेहनत कर बेटी की शादी के लिए कुछ रुपए, गृहस्थी का सामान जुटाया था। २४ फरवरी को आग लगी तो सब खाक हो गया। ७० हजार रुपए रुपए नकद थे। इसमें से ज्यादातर नोट जल गए। कुछ नोट जो आधे बचे रह गए हैं उन्हें बदलने के लिए बैंक में प्रयास किया। लेकिन, बैंक वाले नोट नहीं बदल रहे। बेटी की शादी के लिए आर्थिक मदद प्रदान की जाए।

रात में विस्फोटक से तोड़े जाते हैं पत्थर
रांझी बड़ा पत्थर इलाके में रात में विस्फोटक लगाकर पत्थर तोड़े जा रहे हैं। विस्फोट से इलाका दहल उठता है। मामले की शिकायत सभी सम्बंधित फोरम पर की लेकिन सुनवाई नहीं हो रही। इस मांग को लेकर अशोक कॉलोनी बड़ा पत्थर निवासी सुरेखा राव ने जनसुनवाई में शिकायत की। उन्होंने बताया कि विस्फोट से पत्थर लुढ़कने के कारण आसपास रहने वाले लोगों को अनहोनी का भय बना रहता है। अधिकारियों से विस्फोट से पत्थर तोड़े जाने पर तत्काल रोक लगाई जाए।

जलसंकट दूर करें
शहपुरा के खैरी गांव में दो हजार से ज्यादा लोग रहते हैं। लेकिन, पानी के लिए सिर्फ चार हैंडपम्प पर हैं। रोजाना पानी के लिए लम्बी कतार लगती हैं। इसके मद्देनजर एक और हैंडपम्प की व्यवस्था की जाए। इस मांग को लेकर गांव से आए देवेंद्र सिंह, अजय कुमार, उमेश सिंह ने जनसुनवाई में गुहार लगाई।

बड़ा बेटा कर रहा है प्रताडि़त
उखरी विवेकानंद वार्ड निवासी 86 वर्षीय दिलनी प्रसाद केवट ने बड़े पुत्र की प्रताडऩा से मुक्ति दिलाने के लिए जनसुनवाई में गुहार लगाई। उन्होंने बताया कि उनके पांच बेटे हैं। बड़ा बेटा विजय लगातार उन्हें मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताडि़त कर रहा

Premshankar Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned