दोहरा हत्या कांडः महीने भर बाद भी हत्यारों का सुराग नहीं लगा पाई पुलिस

-8 नवंबर को नर्मदा में उतराया मिला था प्रेमी का शव
- 7 नवंबर से घर से लापता थी प्रेमिका

By: Ajay Chaturvedi

Published: 13 Dec 2020, 04:18 PM IST

जबलपुर. आठ नवंबर से अब 13 दिसंबर हो गए पर जबलपुर पुलिस प्रेमी युगल की हत्या का सुराग नहीं लगा पाई है। बता दें कि गत 8 नवंबर को पिपरिया खुर्द गौर निवासी दीपक उर्फ सौरभ मरावी (21वर्ष) का शव ग्वारीघाट थाना क्षेत्र स्थित दरोगाघाट में आठ नवंबर को नर्मदा में उतराता हुआ मिला था। वह छह नवंबर को रिश्तेदार की बाइक से कहीं जाने के लिए निकला था। पर घर नहीं लौटा। उसके दो दिन बाद उसका शव नर्मदा में मिला। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि उसकी हत्या की गई थी। जांच में जुटी पुलिस को उसी दौरान तिलवारा क्षेत्र में नंदनी झारिया नामक युवती का शव मिला जो 7 नवंबर से घर से लापता थी, जिसके तार दीपक हत्याकांड से जुड गए। बताया जाता है कि दीपक व नंदनी प्रेमी-प्रेमिका थे। दोनों शादी भी करना चाहते थे पर दोनों परिवारों को उनका रिश्ता मंजूर नहीं था।

प्रेमी-प्रेमिका की हत्या कर शव को नर्मदा में बहाने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी तो दूर पुलिस उनका सुराग तक नहीं लगा पाई है इन 35 दिनों में। इतना ही नहीं बरेला पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीमें अब तक घटनास्थल का पता नहीं लगा पाई हैं, जहां दोनों की हत्या कर शवों को ठिकाने लगाया गया था। मामले की विवेचना के दौरान पुलिस को ऑनर किलिंग के संकेत मिले थे लेकिन युवक-युवती पक्ष के लोगों से फौरी तौर पर की गई पूछताछ में कोई सुराग नहीं मिल पाया। इधर, दरोगाघाट से गौर जमतरा तक पुलिस ने नर्मदा में गोताखोर उतारे, पर युवक की बाइक का भी कोई पता नहीं चल पाया, जबकि इस कार्य में पुलिस ने एनडीआरएफ तक को लगाया था।

पुलिस की विवेचना में यह जानकारी भी सामने आई है कि 6 नवंबर को युवक अपने रिश्तेदार की बाइक लेकर घर से निकला, कुछ देर बाद उसने अपने किसी परिजन को फोन कर बताया कि वह युवती के साथ तिलवारा में है तथा दोनों आत्महत्या करने जा रहे हैं। यह जानकारी सामने आने के बाद पुलिस ने तिलवारा क्षेत्र में भी सर्च अभियान चलाया लेकिन दोहरे हत्याकांड का कोई सुराग हाथ नहीं लगा। पुलिस का कहना है कि यदि युवक व युवती की हत्या तिलवारा क्षेत्र में की जाती तो नर्मदा के बहाव के विपरीत ग्वारीघाट दरोगाघाट में शव कैसे पहुंचता। इधर, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दोनों की हत्या की जानकारी सामने आई थी।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इस दोहरे हत्याकांड में ऑनर किलिंग की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता। लेकिन दोनों पक्ष के लोगों के बयान व तकनीकी विवेचना में अब तक कोई सबूत नहीं मिल पाया है। घटनास्थल का पता चलने के बाद इस मामले में कोई सुराग मिल सकता है। वहीं जान गंवाने वाले युवक से कुछ अपराधी गुटों से विवाद का खुलासा भी हुआ है। पुलिस ने कुछ शातिर अपराधी गुटों से पूछताछ भी की लेकिन हत्याकांड का सुराग नहीं मिला।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned