आप प्रोफेसर हैं... आपकी नजर लड़कियों की शारीरिक बनावट पर कैसे जा सकती है?

नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज में इंटर्नशिप कर रही छात्राओं की शिकायत से सन्न रह गया जबलपुर शहर

girl students Complaint Against Netaji Subhash Chandra Bo Medical College Assistant professor

जबलपुर। आप एक मेडिकल कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। आपसे यह कोई कैसे उम्मीद कर सकता है कि आप अपने यहां पढऩे वाली लड़कियों के पहनावे और उनकी शारीरिक बनावट पर टिक जाए, तो यह अक्षम्य अपराध है। लेकिन, आप बड़े ओहदे पर हैं, तो किसी का डर नहीं है। हालांकि, जबलपुर शहर संवेदनशील है। प्रोफेसर की इस हरकत से गुस्से में हैं। असल में 'किस्मत के बदले अस्मतÓ मामले में सुर्खियों में रहा जबलपुर का नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज एक बार फिर चर्चा में है। इस बार कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर पर वहां इंटर्नशिप कर रही 13 छात्राओं ने गम्भीर आरोप लगाए हैं। एसपी को दी गई शिकायत में छात्राओं ने बताया कि वह अक्सर उनके पहनावे और शारीरिक संरचना को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हैं। धमकाते हैं कि इंटर्नशिप में अड़ंगा लगा देंगे तो सर्टिफिकेट नहीं मिल पाएगा।
छात्राओं का दर्द सामने आया तो हर कोई चौंक गया। उनका कहना है कि उन्होंने बैचलर ऑफ फिजियोथैरेपी की फाइनल परीक्षा 2019 में पास की थी। मई 2019 से इंटर्नशिप शुरू हुई। कॉलेज के एक असिस्टेंट प्रोफेसर पर सभी 13 छात्राओं को प्रताडि़त करने का आरोप लगा है। वह लगातार पहनावे और शारीरिक संरचना को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करता है। कॉलेज के डीन, फिजियोथैरपी के हेड ऑफ डिपार्टमेंट, कोऑर्डिनेटर फिजियोथैरेपी आदि से शिकायत की गई, तो वहां से भी मदद नहीं मिली। कहा गया कि पढ़ाई पर ध्यान दो, बेकार की बातों में समय व्यर्थ मत करो। असिस्टेंट प्रोफेसर की मौजूदगी से हम छात्राएं खुद को असुरक्षित महसूस करती हैं। वह धमकी देते हैं कि अड़ंगा लगा दिया तो इंटर्नशिप पूरा नहीं हो पाएगा। उनका कैरियर दांव पर है।
फिजियोथैरेपी के कोऑर्डिनेटर अजय फौजदार का कहना है कि छात्राओं की शिकायत मेरे तक नहीं पहुंची है। शिक्षक के चरित्र पर सवाल उठना गम्भीर विषय है। इस मामले में जांच कर या तो शिक्षक को निर्दोष साबित हो या उचित दंड दिया जाना चाहिए।
डॉ. एचएस वर्मा का कहना है कि मेरे पास असिस्टेंट प्रोफेसर को लेकर किसी तरह की शिकायत नहीं पहुंची है। यदि ऐसा है तो विभागीय जांच कर कार्रवाई करेंगे। एसपी, जबलपुर अमित सिंह ने स्पष्ट किया कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज की छात्राओं ने फिजियोथैरपी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर के खिलाफ गम्भीर आरोप लगाते हुए शिकायत दी है। प्रकरण की जांच सीएसपी गढ़ा को सौंपी है।

shyam bihari
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned