यहां भी मंडराए कोरोना के काले बादल

जबलपुर में भी प्रशासन अलर्ट मोड पर, स्कूल अनिश्चितकाल के लिए बंद, सिर्फ बोर्ड एग्जाम होंगे

By: shyam bihari

Published: 14 Mar 2020, 08:02 PM IST

जबलपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण का कोई मामला जबलपुर में अभी तक नहीं नहीं आया है। लेकिन खतरे से बचने के लिए जबलपुर शहर भी सतर्क हो गया है। स्कूल अनिश्चितकाल के लिए बंद करा दिए गए हैं। धर्मशास्त्र विधि विश्वविद्यालय ने कक्षाएं निलम्बित कर दी हैं। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय, जवाहर लाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय व वेटरनरी यूनिवर्सिटी में भी विशेष सावधानी बरती जा रही है। जबलपुर व आसपास के पर्यटन पर भी असर पड़ा है। वहीं रेल और हवाई सफर भी प्रभावित हुआ है। सार्वजनिक आयोजनों के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अनुमति अनिवार्य की है। मॉल सहित ऐसे स्थान जहां लोग बड़ी संख्या में एकत्र होते हैं वहां भी स्वास्थ्य विभाग की टीम निरीक्षण कर सावधानी के निर्देश दे रही है।

स्कूल शिक्षा विभाग ने अस्थाई तौर पर आगामी आदेश तक स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है। यह अवकाश सभी शासकीय अशासकीय एवं सभी प्रकार के बोर्ड में लागू होगा। बोर्ड परीक्षाओं को देखते हुए कक्षा 5वीं, 8वीं एवं कक्षा 10वीं व 12वीं की परीक्षाएं यथावत चलेंगी। बाकी कक्षाओं की परीक्षाएं सस्पेंड होंगी। जिला शिक्षा अधिकारी सुनील नेमा के अनुसार जिले में 35 सौ से ज्यादा स्कूल हैं। शासकीय स्कूलों के समस्त शिक्षकीय एवं गैर शिक्षकीय स्टाफ स्कूल में उपस्थित होकर शासकीय एवं प्रशासनिक कार्य करेंगे।
लॉ यूनिवर्सिटी ने कक्षाएं की सस्पेंड
धर्मशास्त्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में 29 मार्च तक कक्षाओं को सस्पेंड कर दिया गया है। शिक्षण के ऑनलाइन साधनों का उपयोग किया जाएगा। छात्रावास को भी खाली करने के लिए कहा गया है। रादुविवि स्वास्थ्य केंद्र में आवश्यक दवाइयां व तीन चिकित्सकों को तैनात किया गया है। कुलपति प्रो.कपिल देव मिश्रा ने छात्रों व स्टाफ को सतर्क रहने कहा है। कृषि विवि ने होली मिलन समारोह, सेमिनार, छात्र-छात्राओं के एजुकेशनल टूर प्रोग्राम को स्थगित कर दिया गया है। कुलपति डॉ.पीके बिसेन के अनुसार डिस्पेंसरी में सेनिटाइजर, मास्क एवं विटामिन सी की दवाइयां उपलब्ध करा दी गई हैं।
पर्यटकों की संख्या में कमी
नेशनल पार्कों के अलावा स्थानीय पर्यटन स्थल भेड़ाघाट, बरगी डैम में पर्यटकों की संख्या कम हुई है। मप्र पर्यटन विकास निगम व निजी होटलों में भी बाहर से आने वालों की बुकिंग निरस्त हो रही है। नगर परिषद भेड़ाघाट के सीएमओ एके रावत के अनुसार पर्यटकों की संख्या में कमी आई है। मप्र राज्य पर्यटन विकास निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक मोन्रूसी जोसफ के अनुसार पर्यटन सेक्टर में करीब 20 प्रतिशत की गिरावट हुई है। पर्यटन निगम के होटलों में बाहरी पर्यटकों को मेडिकल चैक अप के बाद रूम दिया जा रहा है। दिल्ली में कोरोना वायरस के पॉजिटिव केसों की जानकारी लगने के बाद यात्रियों ने दिल्ली और उत्तर भारत जाने का प्लान रद्द कर दिया है। पिछले तीन दिनों में सैकड़ो रेल टिकट रद्द कराए गए हैं। जिनमें से अधिकतर दिल्ली और उत्तर भारत की ओर आने जाने वाली ट्रेनों के हैं। इधर मुख्य रेलवे स्टेशन समेत अन्य रेलवे स्टेशनों पर उद्घोषणा की जा रही है। डुमना एयरपोर्ट पर आने वाले हर एक यात्री को कड़ी स्क्रीनिंग से गुजरना पड़ रहा है। यहां स्वास्थ्य विभाग द्वारा डॉक्टर्स की तैनाती की गई है। जबलपुर से यात्रा शुरू करने वाले यात्रियों को भी जांच के बाद ही विमान में यात्रा करने की अनुमति दी जा रही है। डुमना एयरपोर्ट पर रोजाना दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और हैदराबाद से फ्लाइट्स और यात्री आते जाते हैं। जबलपुर से दिल्ली की यात्रा करने वाले यात्रियों का ग्राफ कुछ कम हुआ है। वहीं अन्य शहरों से भी 20 से 25 प्रतिशत यात्री इन दिनों कम आ रहे हैं।

shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned