एमपी में एटीएम तोड़ रहे थे लुटेरे, सीसीटीवी से हैदराबाद में दिख गए और फिर

एमपी में एटीएम तोड़ रहे थे लुटेरे, सीसीटीवी से हैदराबाद में दिख गए और फिर

Lalit Kumar Kosta | Publish: Sep, 11 2018 12:26:17 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

एमपी में एटीएम तोड़ रहे थे लुटेरे, सीसीटीवी से हैदराबाद में दिख गए और फिर

 

कटनी। जैसे जैसे तकनीक विकसित हो रही है अपराध और अपराधी वैसे ही हाईटेक होते जा रहे हैं। इसके साथ तकनीक इन अपराधों पर लगाम लगाने में भी सहायक साबित होती है। यदि उसका सही उपयोग किया जाए तो। जैसा कि कटनी के एक एटीएम में लूट होने से पहले लुटेरों को पकड़ लिया गया। दरअसल सीसीटीवी में लुटेरे एटीएम तोड़ते हुए दिखाई दिए थे, लेकिन हैदराबाद में बैठे एक अधिकारी ने उन्हें देख लिया और उसकी सूचना तत्काल पुलिस को दे दी गई। हुआ ये कि लुटेरे लूट करने से पहले ही धर दबोचे गए।

news fact-

सेंट्रल बैंक के एटीएम को बना रहे थे शिकार
एटीएम तोडऩे घुसे लुटेरे, हैदराबाद से देखी लोकेशन, रंगे हाथ पकड़ा
स्लीमनाबाद बैंक प्रबंधक की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दबोच लिए आरोपी

यह है मामला-
स्लीमनाबाद थाना अंतर्गत सेंट्रल बैंक की शाखा के एटीएम में देर रात तीन लुटेरों ने एटीएम तोडऩे का प्रयास किया। इसी बीच बैंक प्रबंधन की सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंच गई और तीनों लुटेरों को घेराबंदी कर रंगे हाथों पकड़ लिया। पूछताछ में आरोपियों ने स्लीमनाबाद तिराहे में एक मकान में बंधक बनाकर लूट की वारदात को अंजाम देना भी कबूल किया है। तीनों आरोपियों को सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

थाना प्रभारी सुधाकर बारस्कर ने बताया कि बीती रात करीब 12.40 बजे मुंह पर पकड़ा बांधकर तीन युवक एटीएम में दाखिल हो गए थे। एटीएम से छेडख़ानी कर उसे खोलने का प्रयास कर रहे थे। इसी दौरान एटीएम में लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग हैदराबाद कार्यालय में देखी जा रही था, जिसमें तीनों आरोपी कैद हो गए। हैदराबाद से स्लीमनाबाद शाखा प्रबंधक सौरभ सिन्हा को सूचना दी गई। शाखा प्रबंधक की सूचना पर एटीएम की घेराबंदी कर आरोपी चीटा उर्फ इरफान, गुड्डु उर्फ वीरेन्द्र शर्मा निवासी स्लीमनाबाद, गोलू उर्फ जितेन्द्र दुबे निवासी तिहारी को पकड़ा गया। आरोपियों से एटीएम मशीन में छेड़छाड़ करने व तोडऩे वाले औजार सहित एक दोपहिया वाहन जब्त किया गया है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned