द लिजेंट ऑफ भगत सिंह फॉउंडेशन के संस्थापक ने किया वीरभूमि को नमन

द लिजेंट ऑफ भगत सिंह फॉउंडेशन के संस्थापक ने किया वीरभूमि को नमन
Ashwini Ki Shahadat

Govind Ram Thakre | Updated: 23 Sep 2019, 07:36:48 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

- फाउंडेशन के सदस्यों ने शहीद अश्विनी के माता-पिता का किया सम्मान

जबलपुर/सिहोरा. जबलपुर जिले को अपने शहीद सपूत अश्विनी कुमार पर गर्व है। इसी वर्ष 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए एक कायराना आंतकी हमले में वे शहीद हो गए थे। राज्य सरकार से लेकर विभिन्न संगठनों ने शहीद के परिजनों को आर्थिक मदद के अलावा उनके माता-पिता का सम्मान किया है। इसी क्रम में रविवार को द लिजेंट ऑफ भगत सिंह फॉउंडेशन के संस्थापक भागवताचार्य आरुष भगत आजाद शहीद अश्विनी कुमार काछी, रामेश्वर पटेल की जन्मस्थली वीरभूमि खुडावल पहुंचे। उन्होंनेेे शहीद की मां कौशल्या काछी पिता सुकरू काछी से भेंटकर उनका शॉल, श्रीफल भेंटकर सम्मान किया। इस मौके पर ग्रामवासियों के साथ ही युवा मोर्चा के अंकित तिवारी, भाजपा गोसलपुर अर्पित चौबे, सदीप उपाध्याय, शुभम पांडेय, नरेश पटेल, विद्यार्थी परिषद के शिवम चौरसिया, आनंद, रजनीश, अनुज, ऋषिकेश द्विवेदी, नरेश दहिया, सचिन बैरागी, उपस्थित थे। भागवताचार्य ने शहीद के परिजनों को 28 सितंबर को टीकमगढ़ में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया।

अश्विनी कुमार काछी का बचपन से था सेना में जाने का सपना
उल्लेखनीय है कि खुड़ावल गांव के 80 के लगभग युवक सेना, बीएसएफ, आरपीएफ सहित अन्य बलों में भर्ती होकर देशसेवा कर रहे हैं। वर्ष 2016 में इसी गांव की माटी में जन्मे रामेश्वर लोधी शहीद हुए थे। रामेश्वर उनसे एक साल जूनियर थे। सिहोरा उत्कृष्ट विद्यालय से 12वीं पास होने के बाद से ही वे भर्ती की तैयारियों में जुट गए थे। दो साल पहले सीआरपीएफ में उनका चयन हुआ, तो परिजन की खुशी का ठिकाना नहीं था। राजस्थान में ट्रेनिंग पूरी होने के बाद छह महीने पहले ही वे जम्मू-कश्मीर में तैनात हुए थे। वह पढ़ाई के दौरान ही एनीसीसी की ट्रेनिंग ले चुके थे। घर में इकलौते अश्वनी को ही सरकारी नौकरी मिली थी। बेहद साधारण परिवार के अन्य सभी सदस्य मजदूरी पर निर्भर हैं। मां बीड़ी मजदूर हैं।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned