नर्मदा नदी पर झूला पुल

साकेतधाम ग्वारीघाट में संतों की चिंतन बैठक

By: Sanjay Umrey

Published: 21 May 2019, 09:00 AM IST

जबलपुर। ग्वारीघाट स्थित साकेतधाम में सोमवार को हुई मां नर्मदे हर सेवा समिति की चिंतन बैठक में संतों ने नर्मदा के ऊपर ओवरब्रिज बनने का समर्थन नहीं किया। जबकि, उन्होंने झूला पुल बनाने का सुझाव दिया है। इस मौके पर संतों, जनप्रतिनिधियों और नर्मदा भक्तों ने मां नर्मदा को छलनी कर निकाली जा रही अवैध रेत और प्रदूषण नियंत्रण पर मंथन किया। चिंतन बैठक में नर्मदा संरक्षण के लिए प्रस्ताव पास किए गए। निर्णय हुआ कि संतों की अगुवाई में नर्मदा भक्तों को जागरूक करके नर्मदा संरक्षण किया जाएगा।
संयोजक स्वामी गिरीशानंद सरस्वती ने कहा, मां नर्मदा की धारा अविरल एवं निर्मल बनाने के लिए संत आमजन को आगे लाएं, मां नर्मदा पर प्रस्तावित पक्के पुल को रोका जाए, उसके स्थान पर झूला पुल बनाया जाए, नर्मदा प्रदूषण एवं स्वच्छता के लिए लगातार अभियान चलाया जाए। मां नर्मदा क्षिप्रा मंदाकनी न्यास समिति के अध्यक्ष कम्प्यूटर बाबा ने झूला पुल बनाने की बात कहते हुए नर्मदा संरक्षण करने एवं अवैध उत्खनन रोकने के लिए पंचायत स्तर पर नर्मदा युवा सेना का गठन करने की बात की।
हेलीकॉप्टर से करेंगे रेत खनन की निगरानी
कम्प्यूटर बाबा ने कहा, मां नर्मदा संरक्षण के लिए संतों को आगे आना है। इस पवित्र कार्य में नेताओं का हस्तक्षेप नहीं होगा। गांव-गांव में समिति बनाकर कार्य किया जाएगा। एक हेल्पलाइन नम्बर होगा, जिस पर रेत खनन की सूचना देने पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने हेलीकॉप्टर द्वारा अमरकंटक से पांच दिन तक हवाई सर्वेक्षण कर रेत खनन की पर्याप्त जानकारी जुटाने की बात कही। रेत खनन रोकने के साथ आधुनिक मशीनों से चोई निकाली जाएगी। किसी भी कीमत पर मां नर्मदा का आंचल गंदे नालों से मैला नहीं होने दिया जाएगा। स्वामी डॉ. श्यामदेवाचार्य ने भटौली में स्टाप डैम निर्माण की बात की। बैठक में स्वामी अजय कालिकानंद, आचार्य इंद्रभान तिवारी, महंत केवलपुरी, स्वामी रामानंदपुरी, नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष राजेश सोनकर, पूर्व मंत्री चंद्रकुमार भनोत, डॉ. एसपी गौतम,भगवान भाई धीरावाणी, रोहित दुबे, अशोक रंगा, आरपी अग्रवाल, महेंद्र पटेरिया एवं रमेश नवेरिया उपस्थित थे।
नर्मदा का संरक्षण होगा
राज्य सभा सांसद विवेक तन्खा ने नर्मदा संरक्षण के लिए राजनीति से ऊपर उठकर कार्य करने बात की। विधायक संजय यादव ने कहा, वे किसी भी कीमत पर रेत के अवैध खनन का संरक्षण नहीं नहीं होने देंगे। महापौर स्वाति गोडबोले ने ग्वारीघाट में वाटर ट्रिटमेंट प्लांट बनाने की अपनी उपलब्धि बतायी।

Sanjay Umrey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned