दमोहनाका-मदनमहल फ्लाईओवर: ये रिपोर्ट तय करेगी कैसा बनेगा फ्लाईओवर, कहां कहां बनेंगे पिलर

दमोहनाका-मदनमहल फ्लाईओवर: ये रिपोर्ट तय करेगी कैसा बनेगा फ्लाईओवर, कहां कहां बनेंगे पिलर

 

By: Lalit kostha

Updated: 20 May 2020, 02:07 PM IST

जबलपुर। दमोहनाका से मदनमहल के बीच बनने वाले शहर के पहले फ्लाईओवर के निर्माण के लिए स्वाइल टेस्टिंग शुरू हो गई है। मदनमहल चौक से शारदा चौक के बीच स्वाइल टेस्टिंग की जा रही है। दरअसल साढ़े चार किलोमीटर लम्बा फ्लाईओवर बनना है इस क्षेत्र में अलग-अलग तरह की स्वाइल है। टेस्टिंग से लेकर ग्राउंड सर्वें पूरा होने में लगभग एक महीना लगेगा। इसी के आधार पर तय होगा कि कहां कैसा फाउंडेशन बनेगा। इतना ही नहीं फ्लाईओवर की फाइनल डिजाइन तैयार करने के लिए भी दोनों रिपोर्ट अहम होंगी।

स्वाइल टेस्टिंग रिपोर्ट तय करेगी फ्लाईओवर में कहां कैसा फाउंडेशन
दमोहनाका से मदनमहल के बीच साढ़े चार किलोमीटर क्षेत्र में है अलग तरह की स्वाइल

 

biggest flyover bridge in madhya pradesh india
IMAGE CREDIT: lali koshta

पीडब्लूडी का प्रोजेक्ट- फ्लाईओवर के निर्माण की डीपीआर पीडब्लूडी ने तैयार की थी। प्रोजेक्ट पर अगले एक महीने में अलग-अलग स्थानों की स्वाइल की टेस्टिंग करने के साथ ही मार्ग में बिजली के पोल, सीवर लाइन, पानी की पाइप लाइन, ड्रेनेज की सर्वे रिपोर्ट तैयार की जाना है। जिससे बिजली पोल, सीवर, ड्रेनेज व पानी की पाइप लाइन क ी शिफ्टिंग की जा सके।

फ्लाईओवर निर्माण के लिए स्वाइल की टेस्टिंग शुरू हो गई है। इसी के आधार पर तय होगा कि अलग-अलग स्थानों पर कैसे फाउंडेशन की आवश्यकता है। इसके साथ ही मार्ग में बिजली के पोल, सीवर लाइन, पानी की पाइप लाइन, ड्रेनेज की सर्वे रिपोर्ट तैयार की जाना है। दोनों रिपोर्ट के आधार पर स्ट्रक्चर के निर्माण की फाइनल डिजाइन तैयार होगी। इसी के आधार पर निर्माण कार्य शुरू होगा।
- गोपाल गुप्ता, कार्यपालन यंत्री, पीडब्लूडी

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned