Remdesiveer Injection की कालाबाजारी के आरोप में दो के खिलाफ रासुका

-कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने दिए निर्देश

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 12 May 2021, 11:20 AM IST

जबलपुर. Remdesiveer Injection को लेकर जिले में खड़े हुए विवाद के मसले में कलेक्टर ने कड़ा रुख अख्तियार कियाहै। बता दें कि पिछले कई दिनों से रेडमेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी, नकली रेडमेसिविर इंजेक्शन की बिक्री को लेकर जिला ही नहीं बल्कि प्रदेश में तूफान खड़ा हो गया था। विपक्ष के निशाने पर सराकर व जबलपुर जिला प्रशासन रहा। पूर्व सीएम कमलनाथ सहित अनेक नेता रोजाना कुछ न कुछ बयान दे रहे थे। ऐसे में काफी किरकिरी होने के बाद और सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के जबलपुर दौरे के बाद स्थानीय प्रशासन ने कड़ा रुख अपनाते हुए दो आरोपियों पर रासुका (NSA) लगाने का निर्देश दिया है।

बता दें कि जिन दो आरोपियों को रासुका के तहत निरुद्ध करने का आदेश दिया गया है उसमें से एक मौलाना वार्ड छोटी मस्जिद पनागर का निवासी 30 वर्षीय शहनवाज खान और दूसरा सीएमएस कम्पाउंड घमापुर निवासी, 27 वर्षीय विवेक सिंह है। इन दोनों को गोहलपुर पुलिस 6 मई को ही रेमडेसिविर इंजेक्शन के अवैध विक्रय करने के आरोप में गिरफ्तार कर चुकी है। इन दोनों के खिलाफ पुलिस ने भारतीय दण्ड विधान की धारा 269, 270 एवं 188 तहत तथा आपदा प्रबंधन एक्ट, महामारी अधिनियम एवं आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

ये भी पढ़ें- Redmisivir Injection पर सियासत तेज सांसद तन्खा, विधायक विनय ने CM शिवराज चौहान को लिखा पत्र, किया सवाल

इसके बाद ही पुलिस ने कलेक्टर से इन दोनों के विरुद्ध रेमडेसिविर इंजेक्शन की अवैध विक्रय और कालाबाजारी के आरोप में रासुका के तहत तीन माह तक जेल में निरुद्ध करने का प्रतिवेदन दिया था, जिसे स्वीकार करते हुए कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने मंगलवार को उसका आदेश जारी कर दिया।

आरोपियों में एक शहनवाज खान चांडाल भाटा के सामने न्यू लाइफ मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल का मैनेजर है और अपने साथी विवेक सिंह चौधरी के साथ 25-25 हजार रुपये में रेमडेसिविर इंजेक्शन का अवैध विक्रय और कालाबाजारी करता था। आरोपी पात्र कोरोना संक्रमितों को न लगाकर रेमडेसिविर इंजेक्शन अस्पताल से चुरा लेते थे और अनुचित लाभ कमाने के लिए अन्य लोगों को 25-25 हजार रुपये में बेचा करते थे जबकि इनकी वास्तव में कीमत तीन से चार हजार रुपये थी ।

कोरोना संक्रमितों की जान से खिलवाड़ करने वाले दोनों आरोपियों पर करीब पांच इंजेक्शन अस्पताल से चुराकर बेचने का भी आरोप है। पुलिस द्वारा इन आरोपियों से दो रेमडेसिविर इंजेक्शन जप्त भी किए थे ।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned