गजब की पुलिस...कलेक्टर का आदेश मानने बढ़ा दी आमजन की मुसीबत

ऑटो बने राहगीरों और सडक़ों के लिए मुसीबत
शहर के कई इलाकों में रहता है जमावड़ा
पैदल निकलने तक की नहीं मिलती जगह
नजरअंदाज करती है ट्रैफिक पुलिस

जबलपुर, ऑटो चालकों की मनमानी दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है, वहीं उनके खिलाफ कार्रवाई करने में ट्रैफिक पुलिस नाकाम साबित हो रही है। यही कारण है कि शहर के दर्जनभर तिराहों और चौराहों में ऑटो चालक सडक़ों पर कब्जा जमाए रखते है। सुबह और शाम के वक्त यहां स्थिति भयावह हो जाती है। ट्रैफिक पुलिस को इसकी जानकारी है, लेकिन ऑटो चालकों के खिलाफ न तो कार्रवाई की जाती है और न ही उन्हें उन स्थानों से हटाने की कोशिश।
केस:- 01
स्थान:- सेंट नॉर्बट स्कूल
हालात:- सेंट नॉर्बट स्कूल से तिराहे से लेकर चर्च गेट तक सुबह से शाम तक आधा से एक सैकड़ा ऑटो सडक़ पर खड़े रहते हैं। ऑटो चालक बेतरतीब तरीके से ऑटो को सडक़ पर खड़ा करते हैं, जिस कारण यहां से दुपहिया और चार पहिया निकालना तो दूर पैदल निकलने तक की जगह नहीं रहती।
केस:- 02
स्थान:- घमापुर चौक
हालात:- कांचघर जाने वाले और भानतलैया जाने वाले मार्ग पर सुबह से शाम तक दर्जनों ऑटो खड़े रहते हैं। यह ऑटो सडक़ पर खड़े रहते हैं। जिस कारण यहां दिनभर जाम के हालात रहते हैं। यदि कोई चार पहिया वाहन फंस जाए और हॉर्न बजाए, तब भी से हटते नहीं है।
केस:- 03
स्थान:- दर्शन तिराहा
हालात:- यहां ऑटो स्टेण्ड बनाया गया था। इसके बावजूद ऑटो सडक़ पर ही खड़े होते हैं। खमरिया जाने वाले ऑटो हों, या फिर कांचघर की ओर से वहां पहुंचे या इस ओर रवाना होने वाले ऑटो। सभी सडक़ पर खड़े हो जाते हैं। सुबह और शाम के वक्त तो यहां स्थिति भयावह हो जाती है।
ट्रैफिक पुलिस ने नहीं निकाला कोई हल
ट्रैफिक पुलिस को पिछले दिनों कलेक्टर ने आदेश दिया था कि मॉडल रोड पर ऑटो का संचालन बंद किया जाए। इसके बाद ट्रैफिक पुलिस ने ऑटो का संचालन तो बंद कर दिया, लेकिन उनमें मैनेजमेंट की कोई व्यवस्था नहीं बनाई। यही कारण है कि ब्लूम चौक और भंवरताल के पास ऑटो का जमावड़ा लगने लगा। पिछले दिनों एएसपी ट्रैफिक अमृत मीणा ने वहां निरीक्षण भी किया, लेकिन अब तक उसका कोई हल नही निकाला जा सका।
फैक्ट
शहर में अधिकृत ऑटो:- 5500
अनाधिकृत रूप से चलने वाले:- 7000
शहर में दौडऩे वाले कुल ऑटो:- 12500
यहां भी यही हालात:- अधारताल, दमोहनाका, रेलवे ब्रिज क्रमांक एक, मेडिकल तिराहा, वीकल मोड़ रांझी, वीकल मोड़ वीकल
वर्जन
कलेक्टर ने मुझे आदेश दिया था, कि मॉडल रोड पर ऑटो नहीं चलेंगें, हमने उसका सख्ती से पालन कराया। ऑटो स्टेण्ड की जानकारी न तो ननिज ने दी, न ही जिला प्रशासन ने। यह सही है कि भंवरताल के आसपास ऑटो की धमाचौकड़ी है।
अमृत मीणा, एएसपी, ट्रैफिक

Show More
virendra rajak
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned