ऑर्डिनेंस डिपो का स्टोर मैनेजर चुराता था एके-47, पुरुषोत्तम करता रहा मुंगेर में सप्लाई

ऑर्डिनेंस डिपो का स्टोर मैनेजर चुराता था एके-47, पुरुषोत्तम करता रहा मुंगेर में सप्लाई

Mukesh Vishwakarma | Publish: Sep, 06 2018 10:06:36 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

-पुलिस ने पुरुषोत्तम उसके बेटे सहित मैनेजर को दबोचा,

-11 लाख नकदी, एके-47 रायफल के उपकरण और मरम्मत की सामग्री जब्त

-पुरुषोत्तम की पत्नी, सहित रिटायर्ड नियाजुलहसन और एके-47 रायफल खरीदने वाला इमरान के साथी शमशेर की तलाश

जबलपुर. सेना से रिटायर्ड आमर्रर पुरुषोत्तमलाल रजक के पकड़े जाने के बाद लगातार हो रहे सनसनीखेज खुलासे में गुरुवार को भी बड़ी जानकारी पुलिस की जांच टीम को पता चली। सेंट्रल ऑर्डिनेंस डिपो (सीओडी) का सीनियर स्टोर मैनेजर सुरेश ठाकुर आरएसएसडी (रिटर्न स्टोर सब-डिपो) से एके-47 रायफल के अलग-अलग पाट्र्स चोरी करता था और इन पाट्र्स से पुरुषोत्तमलाल रायफल तैयार करता था। इस तरह से सीनियर स्टोर मैनेजर ने करीब 70 एके-47 दिए। पुरुषोत्तम पत्नी के साथ एसी-टू टियर में बिहार के मुंगेर में इमरान और उसके साथी शमशेर को सप्लाई करने के लिए पहुंचता था। पुरुषोत्तम के बेटे का काम इ-टिकट बनाकर देना होता था। दंपती इतने शातिर थे कि वे जबलपुर रेलवे स्टेशन के मेटल डिटेक्टर से बचने के लिए कटनी में बोर्डिंग करते थे। मामले की मप्र एटीएस, बिहार पुलिस और खुफिया एजेंसियां आरोपितों से पूछताछ के लिए आई हैं। तीनों आरोपितों को आठ दिन की रिमांड पर लिया गया है।

एसपी अमित सिंह ने गुरुवार को बताया, क्राइम ब्रांच और गोरखपुर की संयुक्त टीम ने पंचशील नगर में रह रहे पुरुषोत्तमलाल, उसके बेटे शीलेंद्र और स्टोर मैनेजर जयप्रकाश नगर अधारताल निवासी सुरेश ठाकुर को गिरफ्तार किया है। जबकि उसकी पत्नी और इमरान के फरार साथी शमशेर और सेवानिृत्त शस्त्रसाज नियाजुल हसन की तलाश की जा रही है। टीम ने पुरुषोत्तम के घर से 5.78 लाख रुपए, पांच इंसास रायफल के कारतूस, एके-47 रायफल सुधारने के उपकरण, रायफल सुधारने की डायरी, तीन कार, मेगजीन व स्प्रिंग, बट, ट्रिगर ग्रिप, 14 बोतल अंग्रेजी शराब, 8 बॉटल बीयर और सुरेश ठाकुर से छह लाख रुपए जब्त किए हैं।

गौर नदी में फिकवा दिया एके-47 के कलपुर्जे:

एसपी ने बताया, 2012 से अगस्त-2018 तक 70 रायफल पुरुषोत्तम और उसका गिरोह अपराधियों को बेच चुका है। 29 अगस्त को कटनी से पुरुषोत्तमलाल अपनी पत्नी चंद्रवती के साथ मुंगेर में इमरान को सप्लाई करने गया था। वहां इमरान की गिरफ्तारी की खबर शमशेर के माध्यम से मिली तो उसने बेटे शीलेंद्र को फोनकर घर में रखे पैसे और अन्य साक्ष्य मिटाने को कहा। एक सितम्बर को खुद पुरुषोत्तमलाल, पत्नी व बेटे शीलेंद्र के साथ मंडला रोड स्थित गौर नदी पुल से एके-47 रायफल के कलपुर्जे नदी में फेंकने गए थे।

सुरेश के खिलाफ चल रही है जांच :
सीनियर स्टोर मैनेजर सुरेश ठाकुर ने 23 जुलाई को 12 एके-47 राइफल निकाली थी। नौ रायफल पुरुषोत्तम मुंगेर में इमरान को सप्लाई कर दिया था। उसके पास तीन ही थे। जब सीओडी सिक्योरिटी ने 16 अगस्त को सुरेश ठाकुर को उसकी कार की डिक्की से हैंडग्रॉड के साथ पकड़ा था। तब पुरुषोत्तम डर गया और 28 को कटनी से बिहार जाने वाली ट्रेन में बैठ गया था। सुरेश के खिलाफ सेना पुलिस जांच कर रही है।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned