Former MLA Shabnam mausi- पूर्व विधायक किन्नर शबनम मौसी का दर्द सुनकर आप भी हो जाएंगे भावुक

अपने ही बन गए दुश्मन

You will also become emotional after hearing the pain of former MLA Kinnar Shabnam mausi

जबलपुर। वर्ष 1998 में देश की पहली किन्नर विधायक बनीं 65 वर्षीय शबनम मौसी के साथ हाल ही में जबलपुर शहर में मारपीट की गई। मारपीट भी ऐसी कि वे लहूलुहान हो गईं। मारपीट भी किन्नरों के एक समूह ने किया। इसके साथ ही शबनम मौसी दर्द भी छलक आया। वे शिकायत करने पहुंचीं, तो उनकी बात एक आम पीडि़त की तरह सुनी गई। पुलिस के हाव-भाव से लगा ही नहीं कि यह मामला कितना गम्भीर है। पुलिस को यही लग रहा था कि यह तो आम दिनों की तरह किन्नरों के बीच का मामूली विवाद है। लेकिन, शबनर मौसी ने इस मारपीट के बाद अपना दर्द बयां किया। उनका कहना था कि इस उम्र में उनके समाज वालों ने उन्हें इस कदर बेगाना बना दिया। वे भावुक अंदाज में बोलीं कि आखिर उनका अपराध क्या था? उन्होंने तो सिर्फ एक डाक्यूमेंट्री ही तो किन्नर समाज को लेकर बनवाई थी। उसमें कुछ गलत है, मैं उसकी सफाई देने को तैयार हूं। वैचारिक विरोध तो हो ही सकता है। लेकिन, हमारे साथ अपराधियों की तरह अपने ही लोग पेश आए। उनका कहना था कि बुराई कहीं हो सकती है। उसे मान लेने में भला होता है।
यह है मामला
शहडोल जिले के सोहागपुर की पूर्व विधायक किन्नर शबनम मौसी के साथ जबलपुर के भेड़ाघाट में मारपीट की गई थी। शबनम मौसी ने आरोप लगाया कि उनके साथ मारपीट के साथ गर्म भोजन चेहरे पर फेंका गया। फिर जबरन वाहन में बिठाकर लकडग़ंज थाने लाया गया। शबनम मौसी ने बताया कि उन्हें नर्मदा पंचकोसीय यात्रा के सिलसिले में बुलाया गया था। सुबह पांच बजे हरेकृष्ण आश्रम गई। वहां 11 बजे मंच पर भी बिठाया गया। इसके बाद वे भोजन करने गईं, तो वहां मट्टू हाजी व अन्य लोगों ने पहले कहासुनी की और फिर बोतल फेंक कर मारा। विरोध करने पर हाथापाई की। वे थाने शिकायत करने जा रही थीं, तो रास्ते में जबरन वैन में बिठाकर लकडग़ंज ले गए। वहां एक कमरे में बंधक तक बनाकर रखा। शहर छोडऩे की धमकी दी गई। इस मामले में किन्नर समाज की मुखिया हीराबाई ने कहा कि कुछ कहासुनी पर आपसी विवाद हुआ था। हमारे बच्चों ने माफी मांग ली थी। उन्होंने भी माफ कर दिया था। मेरा तो यही कहना है कि आपसी विवाद प्यार-मोहब्बत से बैठकर सुलझाना चाहिए। मामले से व्यथित शबनम मौसी भी पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने एसपी को ज्ञापन सौंपकर मारपीट एवं छिनैती के मामले में कार्रवाई की मांग की। शबनम मौसी ने आरोप लगाया कि हरे कृष्णा आश्रम भेड़ाघाट में मंगलवार को हाजी हीराबाई व हाजी मट्टू के चेलों ने उनके साथ मारपीट की और जेवर छीन लिए।

shyam bihari
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned