गोल-गोल घूम रही पूर्व विधायक के बेटे गोलू को तलाशने वाली पुलिस

जबलपुर के कूड़ाकला गांव में फायरिंग, बलवा और हत्या के प्रयास का मामला

By: shyam bihari

Published: 18 Jul 2020, 06:47 PM IST

जबलपुर। पुलिस यदि किसी को पकडऩा चाहे तो कहते हैं पाताल से भी उठा लाती है। यदि नहीं पकडऩा चाहे तो सामने बैठे आरोपी भी उसे दिखाई नहीं देता। इस समय जबलपुर के बेलखेड़ा के कूड़ाकला गांव में 12 जुलाई की रात बलवा-फायरिंग के आरोपी पूर्व विधायक प्रतिभा सिंह के बेटे गोलू सिंह के मामले में भी यही हो रहा है। पुलिस का दावा है कि गोलू की गिरफ्तारी के लिए दिन-रात एक कर दिया गया है। हालांकि, उसकी भनक अभी तक नहीं लगी। गोलू सिंह पर कूड़ाकला गांव में रेत खनन के वर्चस्व में फायरिंग, बलवा, हत्या के प्रयास व मारपीट का आरोप है। इस मामले में गोलू सहित 23 नामजद और 50 अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। गोलू मामले में शहपुरा एसडीएम की भी बड़ी लापरवाही सामने आई है। पुलिस सूत्रों की मानें तो गोलू के खिलाफ बेलखेड़ा पुलिस ने मार्च में 110 का फाइनल बाउंड एसडीएम कोर्ट में दाखिल किया है। इस पर आज तक नोटिस जारी नहीं हुआ।

एसडीएम कोर्ट आरोपी के अपराधों को देखते हुए उसे छह महीने से लेकर एक वर्ष तक का बांडओवर भराती है। इस अवधि में अपराध होने पर उसे शेष बचे समय के लिए जेल जाना पड़ता है या फिर उसे बाउंडओवर की धनराशि बतौर जुर्माना जमा करना पड़ता है। इसी के उल्लंघन पर 122 की कार्रवाई होती है। इसकी सुनवाई भी सेशन कोर्ट में होती है। इस मामले में बरगी विधायक संजय यादव ने शनिवार को डीजीपी विवेक जौहरी से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौंपा। विधायक यादव ने ज्ञापन में बेलखेड़ा थाना प्रभारी पर गोलू सिंह को सरंक्षण देने के आरोप लगाए। ज्ञापन में कहा गया कि पूर्व विधायक प्रतिभा सिंह के बेटे गोलू सिंह की ओर से अंजाम दी गई गोलीकांड की वारदात से पूरा क्षेत्र दहशत में है। गोलू आदतन अपराधी है और 16 प्रकरण दर्ज हैं। आरोप लगाया है कि पुलिस ने वारदात के दौरान गिरफ्तार करने की बजाय उसे भगाने में साथ देती रही।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned