Congress leader murder:पूर्व पार्षद से पहले कांग्रेस नेत्री के घर डाका डालने के दौरान कर दी थी हत्या

कांग्रेस के पूर्व पार्षद धर्मेंद्र सोनकर की हत्या का मामला:जेल में हुई थी मुख्य आरोपी मोनू और सहआरोपी सतीष भूरा की मुलाकात, दो दिन की पुलिस ने रिमांड लिया

By: santosh singh

Published: 28 Mar 2020, 12:17 PM IST

जबलपुर। पं. राधाकृष्ण मालवीय वार्ड से पूर्व पार्षद धर्मेंद्र सोनकर की हत्या के मुख्य आरोपी मोनू सोनकर और सह आरोपी सतीष भूरा का हनुमानताल पुलिस ने शुक्रवार को दो दिन की रिमांड पर लिया है। सतीष भूरा के खिलाफ भी हत्या, लूट सहित कई प्रकरण दर्ज है। वर्ष 1996 में चर्चित कांग्रेस नेत्री लार्डगंज निवासी शांता राजौरिया के घर डाका डालने के बाद हत्या कर दी थी। प्रदेश के मौजूदा डीजीपी विवेक जौहरी उस समय जबलपुर पुलिस अधीक्षक थे। इस चर्चित वारदात के काफी दिनों बाद पुलिस पर्दाफाश कर पायी थी।
दो दिन की रिमांड पर लिए गए मोनू-सतीष-
हत्या के बाद गिरफ्तार हुए मोनू सोनकर और रामपुर चौधरी मोहल्ला निवासी सतीष भूरा को शुक्रवार शाम को कोर्ट में पेश किया गया। पुलिस ने दोनों से पूछताछ के लिए दो दिन की रिमांड मांगी, जो कोर्ट ने स्वीकार कर ली। पुलिस ने इस मामले में रामपुर चौधरी मोहल्ला निवासी शुभम बेन, रोहित चौधरी, राज अहिरवार और बेन मोहल्ला निवासी हर्ष बेन को भी हिरासत में लिया है। इन पर हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

cctv.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

सीसीटीवी के आधार पर हुई शिनाख्त-
रोहित और शुभम बेन की बाइक से सतीष सहित सभी आरोपी वारदात को अंजाम देने भानतलैया पहुंचे थे। मोनू ने फोन कर सतीष को बुलाया था। कुछ दूरी पर शुभम, राज, रोहित व हर्ष को बाइक के साथ छोडकऱ सतीष मुख्य आरोपी मोनू के साथ वारदात को अंजाम देने निकला था। हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद वह उक्त चारों युवकों के साथ बाइक से भागकर रामपुर पहुंच गया था। घटनास्थल सहित चौराहे-तिराहे पर लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जहां सतीष को गिरफ्तार किया गया। वहीं उक्त चारों युवकों को भी हिरासत में लिया गया।
एक महीने पहले एक लाख रुपए में खरीदा था पिस्टल
पूर्व पार्षद की हत्या का मुख्य आरोपी मोनू और सतीष की दोस्ती जेल में हुई थी। मोनू अर्से से धर्मेंद्र, गज्जू और उसके पिता राजकुमार उर्फ बाबू नाटी सोनकर की हत्या करने की साजिश रच रहा था। एक वर्ष पहले भी उसने कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं हो पाया। महीने भर पहले मोनू ने शोभापुर के पास रहने वाले मुकेश बिहारी से सात पिस्टल और 70 के लगभग कारतूस एक लाख रुपए में खरीदे थे। मुकेश ने यूपी से हथियार लाकर देने की बात मोनू को बताई थी। पुलिस ने हत्या की वारदात में प्रयुक्त तीन पिस्टल, 08 खोखा सहित मोनू के घर से चार पिस्टल सहित कुल 56 कारतूस जब्त किए हैं।
पैसे-गहने व वाहन परिवार की सुपुर्दगी में दिया
पुलिस को मोनू सोनकर के घर से 500-500 की 12 गड्डी, मंगलसूत्र, चेन, 02 चार पहिया वाहन आदि जब्त किए थे, जो शुक्रवार को कोर्ट में पेश करने से पहले उसके परिवार की सुपुर्दगी में दे दिया।

murder.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

भारी पुलिस बल की मौजूदगी में अंतिम संस्कार
पं. राधाकृष्ण मालवीय वार्ड से पूर्व पार्षद धर्मेंद्र सोनकर की शुक्रवार सुबह 11 बजे भानतलैया स्थित आवास से भारी पुलिस बल की मौजूदगी में अंतिम यात्रा निकली। कोरोना को लेकर शहर में लगे कफ्र्यू के बावजूद बड़ी संख्या में समर्थक अंतिम संस्कार में मास्क लगाकर पहुंचे। पूर्व पार्षद का शव मेडिकल स्थित मरचुरी से सुबह लाया गया। सुबह 11 बजे परिजन, पार्टी नेताओं और समर्थकों की मौजूदगी में भानतलैया से करिया पाथर मुक्तिधाम के लिए शवयात्रा रवाना हुई। इस दौरान तीन सीएसपी सहित अलग-अलग थानों का बल लगाया गया था।
ये थी घटना-
गुरुवार को भानतलैया निवासी पूर्व पार्षद धर्मेंद्र सोनकर की मरही माता मंदिर के सामने पुरानी रंजिश में मोनू सोनकर व सतीश सोनकर ने गोली मारकर हत्या की थी। हत्या की वारदात के समय 16 वर्षीय अंकित गोटिया को भी जांघ में गोली लग गई थी। निजी अस्पताल में भर्ती अंकित की हालत में अब सुधार है।

Congress leader
Show More
santosh singh Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned