पेपर लीक: परीक्षा से पहले 5-5 हजार रुपए में बिका आईटीआई का पर्चा! मच गया बवाल, देखें वीडियों

प्रदेश की मॉडल आईटीआई में एनएसयूआई ने किया हंगामा

By: deepankar roy

Published: 10 Feb 2018, 09:55 AM IST

जबलपुर। औद्योगिक परीक्षण संस्थान की परीक्षा का गोपनीय पर्चा परीक्षा से पहले बाजार में बिक गया। प्रश्र पत्र खरीदने के लिए छात्रों ने बाजार में खुलेआम 1 से 5 हजार रुपए की बोली गई। इससे शुक्रवार को होने वाल पर्चा गुरुवार की शाम को ही छात्रों के हाथ में आ गया।
पर्चा लीक होने को लेकर दिन भर उथल-पुथल मची रही। लेकिन हैरानी वाली बात ये है कि पेपर लीक हो जाने के बावजूद इस विषय की परीक्षा शुक्रवार को निर्धारित शेड्यूल पर हुई। इस बात की खबर जैसे ही भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के कार्यकर्ताओं तक पहुंची वे मॉडल आईटीआई पहुंच गए। उन्होंने पेपर लीक होने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया। कुछ ही देर के अंदर मामले को लेकर बवाल शुरू हो गया। हालांकि आईटीआई प्रबंधन ने पेपर लीक होने की बात इंकार किया है।

फिटर ट्रेड का पेपर
आईटीआई के फिटर टे्रड के थर्ड सेमेस्टर के इंजीनियरिंग एवं ड्राइंग की परीक्षा शुक्रवार को निर्धारित थी। परीक्षा सुबह 9.30 बजे से हुई। इस परीक्षा का आयोजन अन्य प्राइवेट आईटीआई में भी निर्धारित समय पर हुई। इसमें करीब 13 सौ छात्र-छात्राएं शामिल हुए। एनएसयूआई कार्यकर्ताओं का आरोप है कि संबंधित विषय का प्रश्र पत्र परीक्षा के एक दिन पहले ही देर छात्रों के पास पहुंच गया था।

सिर्फ एक ऑफलाइन, वहीं लीक
जानकारों के अनुसार आईटीआई की परीक्षा में 6 प्रश्र पत्र होते है। इसमें पांच प्रश्रपत्र ऑनलाइन होते है। सिर्फ एक पेपर ऑफलाइन होता है। छात्रों का आरोप है कि वहीं प्रश्र पत्र लीक हुआ है जो मेनुअली हल किया जाता है। हालांकि प्रश्र पत्र लीक किस स्तर पर हुआ इसे लेकर कोई स्पष्ट जानकारी फिलहाल सामने नहीं आयी है।

पेपर रद्द करने की मांग
पर्चा लीक होने जानकारी सामने आते ही एनएसयूआई के कार्यकर्ता मॉडल आईटीआई पहुंच गए। प्राचार्य कक्ष के सामने धरना शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारी पेपर लीक होने का आरोप लगाते हुए परीक्षा निरस्त करने की मांग कर रहे थे। कार्यकर्ताओं ने प्राचार्य से बातचीत की लेकिन उन्होंने सिर्फ शिकायत उच्च अधिकारियों तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। बाद में पुलिस ने एनएसयूआई कार्यकर्ताओं को कैंपस से खदेड़ दिया।

पूरी तरह बैंक में थे सुरक्षित
आईटीआई प्राचार्य केएल मरकाम के अनुसार प्रश्न पत्र पूरी तरह बैंक में सुरक्षित रखे गए हैं। जो सुबह ही निकाले गए। छात्रों के आरोपों को वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया है।

प्रश्र पत्र दिल्ली से आते है
कौशल विकास संचालनालय के ज्वाइंट डायरेक्टर आरके द्विवेदी के अनुसार छात्रों ने प्रश्न पत्र लीक होने से जुड़े कोई दस्तावेज नहीं दिए हैं। परीक्षा होने के बाद छात्र पहुंचे। प्रश्न पत्र दिल्ली से आते हैं। सबूत मिलने पर जांच की जाएगी।

Show More
deepankar roy Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned