मप्र स्टेट बार काउंसिल के अध्यक्ष का चुना जाना सबको चौंका गया

भोपाल के डॉ. विजय चौधरी के पक्ष में रातों-रात बना जीत का समीकरण, जबलपुर के छह सदस्यों ने दिया समर्थन

 

By: shyam bihari

Published: 22 Nov 2020, 10:24 PM IST

जबलपुर। भोपाल के डॉ. विजय चौधरी के मप्र स्टेट बार काउंसिल के चेयरमैन चुने जाने के पक्ष में रातों-रात समीकरण बना। शुक्रवार रात तक दो पूर्व अध्यक्षों अधिवक्ता शिवेंद्र उपाध्याय एवं रामेश्वर नीखरा को अध्यक्ष पद के लिए दावेदार माना जा रहा था। शिवेंद्र उपाध्याय खेमे में जबलपुर के छह सदस्यों के साथ कुल 13 सदस्य बताए जा रहे थे। इस वजह से उनका पलड़ा भारी नजर आ रहा था। शुक्रवार रात को जबलपुर के छह सदस्यों से समर्थित इस खेमे के एक सदस्य अधिवक्ता को दूसरे खेमे ने शहर में आने ही नहीं दिया। उन्हें सागर में ही रोक लिया गया। रातों रात बाजी पलटने की कवायद हुई।

दूसरे खेमे की ओर से ग्वालियर के अधिवक्ता जेपी मिश्रा का नाम प्रस्तावित करने की बात तय हुई। लेकिन, शनिवार सुबह अध्यक्ष के चयन की बात आई, तो उपाध्याय खेमे की ओर से अप्रत्याशित तरीके से सदस्य वरिष्ठ अधिवक्ता मनीष दत्त ने भोपाल जिला बार एसोशिएशन के अध्यक्ष डॉ. विजय चौधरी का नाम प्रस्तावित कर दिया। प्रस्ताव का समर्थन शिवेंद्र उपाध्याय ने किया। सदस्य मनीष तिवारी ने बैठक की शुरुआत में ही डॉ. चौधरी के पक्ष में 13 सदस्यों का समर्थन पत्र काउंसिल के सचिव को सौंप दिया था। इन परिस्थितियों के मद्देनजर दूसरे खेमे की ओर से भी डॉ. चौधरी को समर्थन देते हुए विरोध में किसी उम्मीदवार के नाम का प्रस्ताव नहीं दिया।

डॉ. चौधरी के पक्ष में समर्थन करने वाले सदस्यों में जबलपुर के राधेलाल गुप्ता, जगन्नाथ त्रिपाठी, मनीष दत्त, मनीष तिवारी, आरके सिंह सैनी, शैलेंद्र वर्मा गुड्डा सहित सुनील गुप्ता, विवेक सिंह, दिनेश नारायण पाठक, शिवेंद्र उपाध्याय, जितेंद्र शर्मा, राजेश शुक्ला शामिल थे।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned