आखिर क्यों दी हैं पुलिस ने इन्हें शह, जो बीच शहर करते हैं मौत का तांडव

आखिर क्यों दी हैं पुलिस ने इन्हें शह, जो बीच शहर करते हैं मौत का तांडव
आखिर क्यों दी हैं पुलिस ने इन्हें शह, जो बीच शहर करते हैं मौत का तांडव

Virendra Kumar Rajak | Publish: May, 18 2019 07:46:19 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

कभी किसी को कुचलकर मौत के घाट उतार दिया जाता है, तो कभी किसी को कुचलने के बाद ये भाग निकलतीं हैं, पकड़ी भी जाएं, तो गैरजमानती धाराओं का मामला कायम होता है और फिर वे से सड़कों पर तांड़व मचाने तैयार हो जाती हैं, आखिर क्यों दे रखी है पुलिस और जिम्मेदारों ने इन्हें इतनी शह...

शहर की सड़कों पर दौडऩे वाली यात्री बसों से आए दिन हादसे होते हैं, इनकी रफ्तार इतनी होती है कि यदि ये किसी के बाजू से निकल जाएं, तो लोग घबरा जाते हैं। तो कभी इनकी रफ्तार अंदर बैठे यात्रियों की ही जान की दुश्मन बन जाती है। इतना ही नहीं ये बैखौफ होकर नियमों की भी धज्जियां उड़ती हैं, इसके बावजूद इन पर कार्रवाई नहीं की जाती।
शहर से संचालित और शहर से होकर गुजरने वाली बसों के चालक बेखौफ नियमों का माखौल उड़ा रहे हैं। जिम्मेदार विभागों आरटीओ और ट्रैफिक पुलिस के सख्त कार्रवाई नहीं करने से बस चालक मनमानी कर रहे हैं। बसों में निर्धारित क्षमता से अधिक सवारियां बिठाई जा रही हैं। परमिट शर्तों का उल्लंघन कर मनमाने रूट पर बसों का संचालन हो रहा है। चालक-परिचालक ड्रेस कोड का भी पालन नहीं कर रहे हैं। प्रतिबंध के बाद भी बसें शहर में प्रवेश कर रही हैं। बस चालकों ने शहर में भी कई स्थानों पर अघोषित स्टैंड बना लिए हैं। जानकारों की माने तो चंद रसूखदार ऑपरेटर्स की वजह से प्रशासन उन पर कार्रवाई नहीं कर पा रहा है।
इन नियमों का उल्लंघन
- परमिट के अनुसार तय समय पर नहीं हो रही बसों की रवानगी
- ड्रेस कोड का पालन नहीं कर रहे चालक-परिचालक
- अघोषित बस स्टैंड से बिठा रहे सवारी
- अनुमति नहीं होने के बाद भी कर रहे शहर में प्रवेश
- मनमाने रूट पर चल रही बसें, ओवरलोडिंग भी
टूरिस्ट परमिट की बसें भी प्रवेश कर रही शहर में
जिम्मेदार विभागों के कार्य
आरटीओ : समय-समय पर बसों की जांच करना, परमिट शर्तों के उल्लंघन और ओवरलोडिंग पर कार्रवाई करना, तय रूट के बजाय दूसरे रूट पर संचालन होने पर कार्रवाई करना।
ये है स्थिति
- 850 बसों का संचालन हो रहा शहर में
- 1200 बसें गुजरती हैं शहर से होकर
-50 हजार यात्री रोज करते हैँ सफर इन बसों में
ट्रैफिक पुलिस : रूट परमिट का उल्लंघन कर शहर में प्रवेश करने वाली बसों की जांच करना। सड़क पर बस रोक कर सवारियां बैठाने पर चालानी कार्रवाई करना, नियमों का उल्लंघन करने पर बसों को जब्त कर परमिट रद्द करने की अनुशंसा करना।
...वर्जन...
नियमित रूप से भी बसों की जांच होती है। समय-समय पर अभियान चलाकर कार्रवाई भी की जाती है। ट्रैफिक पुलिस को भी कार्रवाई करना चाहिए।
संतोष पॉल, आरटीओ

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned