Train श्रमिक एक्सप्रेस भी हो रहीं घंटो लेट, खाना पानी भी मिलना मुश्किल

खाने पानी को भी तरसे, लेट पर लेट होती रही ट्रेन

By: virendra rajak

Published: 23 May 2020, 08:15 PM IST

जबलपुर, महाराष्ट्र के सिंहदुर्ग रेलवे स्टेशन से एक ट्रेन रीवा के लिए रवाना हुई। इस ट्रेन को शुक्रवार सुबह साढ़े नौ बजे जबलपुर रेलवे स्टेशन आना था, लेकिन करीब 33 घंटे बाद शनिवार शाम छह बजे यह ट्रेन जबलपुर रेलवे स्टेशन पहुंची। इस दौरान ट्रेन में सवार श्रमिकों को खाने और पानी के लिए परेशान होना पड़ा। जबलपुर रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद उन्होंने राहत की सांस ली।
जानकारी के अनुसार इस ट्रेन में 10 जिलों के 523 श्रमिक सवार थे। जिन्हें जबलपुर रेलवे स्टेशन पर उतरना था। टे्रन के मुख्य रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म क्रमांक छह पर रूकने के बाद मौके पर मौजूद जीआरपी और आरपीएफ के अधिकारियों ने श्रमिकों को बारी-बारी से ट्रेन से उतारा। जिसके बाद उनकी दो बार स्क्रीनिंग की गई। स्क्रीनिंग के बाद उन्हें प्लेटफॉर्म से बाहर जाने दिया गया।
खाने पानी को तरसे
श्रमिक एक्सप्रेस से उतरे भरत, किशन और रज्जों बाई ने बताया कि ट्रेन तो समय से चल दी थी, लेकिन रास्ते में वह लेट होते गई। कई बार तो ट्रेन ऐसी जगहों पर रूकी, जहां पानी तक की व्यवस्था नहीं थी। ट्रेन के लेट होने के कारण भूख और प्यास से भी सभी को परेशान होना पड़ा औैर उन्हें समय पर खाना नहीं मिला।
बस करते रहे इंतजार
ट्रेनों के आने के पूर्व शुक्रवार सुबह आठ बजे ही बसें मुख्य रेलवे स्टेशन के बाहर पहुंच गई थीं। लेकिन ट्रेन लेट होती गई। जिस कारण बसों के चालक और परिचालकों को भी परेशानी झेलनी पड़ी।
नहीं मिली लोकेशन
इधर गाड़ी संख्या 06235 बैगलोर रीवा श्रमिक एक्सप्रेस को शनिवार को जबलपुर रेलवे स्टेशन आना था। इसमें से भी पांच सैकड़ा से अधिक श्रमिकों को उतराना था, लेकिन देर रात तक यह ट्रेन मुख्य रेलवे स्टेशन नहीं पहुंची थी।

वर्जन
- 10 जिलों के 523 श्रमिकों को 11 बसों से रवाना किया गया। यह बसें शुक्रवार को ही जबलपुर आ गई थीं।
संतोष पॉल, आरटीओ
- सिहदुर्ग से शुक्रवार सुबह आने वाली ट्रेन शनिवार शाम आई। स्क्रीनिंग के बाद यात्रियों को बाहर भेजा गया।
मंजीत सिंह, थाना प्रभारी, जीआरपी

virendra rajak Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned