चैत्र नवरात्र से पहले देवी मंदिर में मिली UAE की करेंसी, सोने-चांदी का लगा ढेर

मां त्रिपुरी सुंदरी मंदिर की दान पेटियां खोली गई, चढ़ावे में एक हजार का बंद हो चुका नोट भी मिला

By: deepankar roy

Updated: 04 Apr 2019, 10:29 PM IST

जबलपुर. तेवर स्थित मां त्रिपुरी सुंदरी मंदिर में गुरुवार को जब दान पेटियां खोली गईं तो उसमें संयुक्त अरब अमीरात की करेंसी मिली। एक हजार रुपए का बंद हो चुका नोट भी मिला है। मंदिर प्रबंधन समिति की ओर से चैत्र नवरात्र से पहले चढ़ावे की गणना कराई गई। प्रशासनिक अधिकारियों, श्रृद्धालुओं की उपस्थिति और सुरक्षा घेरे में दान-पेटियां खोली गईं। गणना में नकदी और रसीद से प्राप्त चंदे के रुप में कुल चार लाख तीन हजार 398 रुपए प्राप्त हुए हैं। बंद हो चुका एक हजार रुपए एक नोट मिला है। इसके अलावा संयुक्त अरब अमीरात का 10 दिरहम का एक नोट प्राप्त हुआ है। इसे बैंक में जमा किया गया है। बैंक ने 10 दिरहम के बदले भारतीय मुद्रा अनुसार राशि मंदिर प्रबंधन के खाते में जमा कर है।

6 घंटे, 135 लोग जुटे-
मंदिर प्रबंधन समिति द्वारा प्रति डेढ़ से ढाई माह के अंतराल में चढ़ावे की गणना कराई जाती है। इसी क्रम में गुरुवार सुबह 10 बजे प्रक्रिया हुई। आमतौर प्रक्रिया सुबह से देर शाम तक चलती है। इस बार करीब 135 लोग गिनती में जुटे। इससे छह घंटे में ही शाम चार बजे गिनती पूरी हो गई।

सोना-चांदी दोबारा पेटी में बंद-
मंदिर की करीब 11 दान पेटियों में सोना-चांदी और कीमती आभूषण निकले, लेकिन स्वर्णकार के नहीं पहुंचने के कारण उनकी शुद्धता की जांच, तौल और मूल्य की गणना नहीं हो सकी। उन्हें दोबारा पेटी में बंद कर दिया गया। इसका मूल्यांकन अगली गणना के दौरान किया जाएगा। गिनती की प्रक्रिया के समय एसडीएम गोरखपुर मनीष वत्सले, तहसीलदार दिलीप चौरसिया, जनपद पंचायत सीइओ तिवारी, मंदिर प्रबंधन समिति के शिव पटेल, विक्रम सिंह चौहान, राजकुमार पटेल, प्रधान पुजारी रमेश दुबे सहित श्रृद्धालु एवं क्षेत्रीय लोग उपस्थित थे।

एक नजर...

- 06 घंटे चली चढ़ावे की गिनती।

- 04 लाख 3 हजार 398 रुपए कुल राशि प्राप्त हुई।

- 02 लाख 82 हजार 110 रुपए के नोट।

- 72 सौ रुपए के सिक्के।

- 51 हजार 88 रुपए रसीद कार्यालय की पर्ची से प्राप्त।

 

deepankar roy Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned