चेतावनी: सूख गए प्रदेश के बड़े जलाशय, बड़े शहर में मचेगी त्राहि-त्राहि

नर्मदा, जलाशयों और भूजल का तेजी से गिर रहा स्तर, नगर निगम अफसरों की उड़ी नींद

By: Lalit kostha

Published: 27 Feb 2018, 11:59 AM IST

जबलपुर. परियट जलाशय में पर्याप्त पानी नहीं होने से 15 वार्ड में एक टाइम पानी की कटौती कर रहे निगम अफसरों की शहर का भू-जल स्तर नीचे जाने से नींद उड़ गई है। शहर में भू-जल स्तर एक मीटर गिर गया है। इसके चलते निगम के नलकूपों व हैंडपम्प पर लगे दर्जनों पम्पों ने पानी खींचना बंद कर दिया है। इससे चिंता और बढ़ गई है। जिला ग्राउंड वाटर सर्वे की ताजा रिपोर्ट में शहर का वाटर लेवल लगभग एक मीटर नीचे चला गया है। पिछले साल जनवरी में शहर का ग्राउंड वाटर लेबल 5.17 मीटर पर था, जो कि इस साल जनवरी में और नीचे गिरकर 6.08 मीटर पर पहुंच गया है। इसके असर से निगम के नलकूपों व हैंडपम्पों पर लगे लगभग 721पावर पम्प में दर्जनों ने पानी खींचना बंद कर दिया है।

एेसी तो न थी नर्मदा
जीवनदायिनी नर्मदा सूखी-सूखी नजर आ रही हैं। बरगी बांध के पूरी क्षमता से न भर पाने का असर नर्मदा पर दिखाई दे रहा है। पानी का लेबल कम होने से ललपुर प्लांट के साथ ही रमनगरा प्लांट प्रभावित हो रहे हैं। ललपुर में एक स्टेनर से ही प्लांट तक पानी पहुंच पा रहा है। बरगी में जल विद्युत गृह में रोजाना चार घंटे उत्पादन होने के कारण नर्मदा में सिर्फ १०३ क्यूमेक्स पानी ही रोज आ रहा। इससे बरगी से लेकर धुआंधार तक नर्मदा का जलस्तर काफी नीचे चला गया है।

परियट में 10.50 फीट पानी बचा
कम बारिश से खाली रह गया परियट जलाशय निगम के लिए सबसे बड़ी चिंता है। इसके कारण रांझी प्लांट से जुड़े 15 वार्ड में एक टाइम जलापूर्ति की जा रही है। परियट में सिर्फ 10.50 फीट पानी रह जाने के कारण निगम रोजाना 10 एमएलडी पानी ही ले रहा, ताकि अप्रैल-मई तक किसी तरह काम चलता रहे। इसके बदले उमरिया में बरगी दायीं तट नहर से 25 एमएलडी पानी रांझी प्लांट तक पहुंचाया जा रहा है। फगुआ नाले में भी दो पम्प लगाए गए हैं।

खंदारी से रोकी सप्लाई
गर्मी में पानी के हाहाकार के आसार के कारण खंदारी जलाशय से पानी सप्लाई रोक दी गई है। यहां से भोंगाद्वार प्लांट तक रोजाना पहुंचने वाला 27 एमएलडी पानी अब नहीं भेजा जा रहा। इसके बदले निगम गौर नदी से 27 एमएलडी पानी भोंगाद्वार पहुंचा रहा है। खंदारी जलाशय में केवल नौ फीट पानी बचा है। अफसरों का कहना है कि अभी से ध्यान दिया जाएगा तो आने वाले समय में जलसंकट से बचा जा सकेगा। लोगों को भी जागरुकता दिखानी होगी।

गर्मी में भी शहर में पानी सप्लाई जारी रहे, इसके उपाय किए जा रहे हैं। परियट जलाशय न भरने के कारण बरगी दायीं तट नहर से रांझी प्लांट तक पानी पहुंचाने की व्यवस्था की गई है। जल्द ही मिल्क स्कीम के पास रमनगरा से आई मेन राइजिंग लाइन को रांझी प्लांट की लाइन से कनेक्ट किया जाएगा। इससे रांझी तक नर्मदा का पानी पहुंचने लगेगा।
- श्रीराम शुक्ला, जल प्रभारी

बरगी बांध से कम पानी छोड़े जाने के कारण ललपुर में एक स्टेनर से ही वाटर फिल्टर प्लांट तक पानी पहुंच रहा है। खंदारी जलाशय से पानी लेना बंद कर दिया गया है। इसके बदले गौर नदी से भोंगाद्वार प्लांट तक पानी पहुंचाया जा रहा है।
- कमलेश श्रीवास्तव, कार्यपालन यंत्री, जल


फैक्ट फाइल-
216 एमएलडी वर्तमान में रोजाना पानी सप्लाई
16 एमएलडी कम हो गई सप्लाई
01 टाइम पानी दे रहे रांझी प्लांट से
170 टैंकर पानी पहुंच रहा वार्डों में रोज
02 ट्रक टैंकर भी आपूर्ति में लगे
51 टंकियों से घर-घर पानी सप्लाई

जलाशयों की स्थिति-
बरगी बांध - वर्तमान जलस्तर- 418.70 मीटर
अधिकतम - 422.76
न्यूनतम-403.55

परियट -वर्तमान जलस्तर- 1371.40 फीट
अधिकतम - 1390.90
न्यूनतम-1360.90

खंदारी - वर्तमान जलस्तर- 1426.54 फीट
अधिकतम - 1454.67
न्यूनतम-1417.54

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned