यहां क्या हो गया ऐसा कि जल उठी बदले की आग

जबलपुर में पत्नी पर लगा पति की हत्या का आरोप, पिता ने दी बेटे के हत्यारों के मर्डर की सुपारी, बेटे ने हत्या से पिता के अपमान का बदला

By: shyam bihari

Published: 01 Jul 2019, 07:21 PM IST

जबलपुर। आमतौर पर शांत रहने वाले जबलपुर शहर में लगता है इस समय बदले की आग जल उठी है। एक सप्ताह में तीन सनसनीखेज वारदातों ने पुलिस सिस्टम को चुनौती दी है। एक व्यक्ति ने अपने बेटे की हत्या के आरोपियों के मर्डर के लिए बदमाशों को सुपारी दी। एक युवक ने अपने पिता का अपमान करने वाले जिलाबदर बदमाश को गोलियों से भून दिया। एक महिला ने अपने साथ रोज मारपीट करने वाले आरक्षक पति को गला घोटकर मार डाला। सीन ऑफ क्राइम के आधार पर पुलिस ने जो थ्योरी बताई उससे तीनों वारदातों में अपराध का कारण बदले की भावना थी। पुलिस के पक्ष में सिर्फ एक बात गई कि उसने तीनों वारदातों को खुलासा करने का दावा किया। हालांकि, राज की कई गुत्थियों अनसुलझी हैं।
अंदर ही अंदर सुलग रही थी आग
पाटन जिला अदालत में कुछ बदमाशों ने पेशी पर लाए गए हत्या के दो आरोपियों को सरेआम गोली मार दी। हमलावर वहां से बचकर भाग भी निकले। हालांकि, पुलिस ने कुछ दूर पर फायरिंग के आरोपियों को पकड़ लिया। उनसे खुलासा हुआ कि उन्हें गोली मारने के लिए सुपारी दी गई थी। सुपारी देने वाले के 10 साल के बेटे की नृशंस हत्या हुई थी। उसका बदला लेने के लिए बालक के पिता में अंदर ही अंदर बदले की आग सुलग रही थी। पुलिस को इस बाबत सूचनाएं भी थीं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। आखिर में वारदात हो गई।
पिता को दी गाली, बेटे ने मारी गोली
बीच जबलपुर शहर में जिलाबदर के आरोपी को एक युवक ने गोलियों से भून दिया। बाद में पता चला युवक के पिता को जिलाबदर के आरोपी ने जिंदा रहते गाली दी थी। बेटे ने पुलिस व्यवस्था को धता बताते हुए कानून को हाथ में लिया। सरेआम बदमाश का मर्डर कर दिया। उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है।
रोज-रोज की किचकिच, घोट दिया गला
दो दिन पहले ही बेहद सनसनीखेज वारदात सामने आई। एसएएफ के आरक्षक का शव झाडिय़ों में मिला। शव की पहचान उसकी पत्नी ने ही की। जांच हुई, तो पता चला कि पत्नी ने ही अपनी चचेरी बहन और सहेली के साथ मिलकर आरक्षक का गला घोटा था। पत्नी पुलिस गिरफ्त में आई, तो उसके बयान से सुनने वालों पर बम फूट गया। महिला ने कहा कि उसका पति रोज-रोज मारपीट करता था। इसलिए उसकी हत्या कर दी।

shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned