मौसेरी बहन की शादी में आए युवक के विदेश में निकले 2.50 लाख रुपए

ऑनलाइन की गई खरीदारी वारदात

 

 


जयपुर.

दिल्ली से जयपुर मौसेरी बहन की शादी में आए एक युवक के बैंक खाते से ऑनलाइन ढाई लाख रुपए की खरीदारी कर ली गई। पीडि़त ने जयपुर कमिश्नरेट स्थित सायबर थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने बताया कि दिल्ली निवासी संदीप भटनागर के बैंक खाते से विदेश में खरीदारी की गई। पीडि़त का कार्ड भी उसके पास है और ना ही उसे ओटीपी या किसी अन्य तरह का मैसेज प्राप्त नहीं हुआ है। तीन बार में खरीदारी कर यह रकम निकाली गई। पीडि़त शिप्रापथ निवासी अपनी मौसेरी बहन की शादी में जयपुर आया हुआ है। सोमवार सुबह ही जालसाजी के संबंध जानकारी मिली है। इधर, साइबर विशेषज्ञों का कहना है कि देश में ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने के लिए कार्ड नंबर, एक्सपायरी डेट, कार्ड वेरिफिकेशन वैल्यू(सीवीवी) और ओटीपी की जरूरत होती है। विदेशों की बात करें, तो वहां सिर्फ कार्ड नंबर और एक्सपायरी डेट और सीवीवी से ही ट्रांजेक्शन हो जाता है। विदेशों में ट्रांजेक्शन होने से अपराधियों को पकड़ पाना पुलिस के लिए मुश्किल हो जाता है।

यूं बरतें सावधानी-

- अपने कार्ड की जानकारी कहीं भी सेव न करें।
- वेबसाइट्स पर ट्रांजेक्शन करते समय वर्चुअल कार्ड का उपयोग करें।
- मोबाइल बैंकिंग ऐप में जाकर कार्ड लिमिट सेट कर दें और इंटरनेशनल यूजेज को भी ऑफ कर दें।
- कार्ड का प्रोटेक्शन प्लान लेना भी एक अच्छा विकल्प है।

यूं हो रहा है डाटा लीक

जब भी व्यक्ति किसी गैर भरोसेमंद वेबसाइट पर ट्रांजेक्शन करने के लिए कार्ड की जानकारी डालकर रिमेबर डिटेल्स ऑप्शन पर क्लिक करता है, तो डेटाबेस में कार्ड की जानकारी सेव हो जाती है। डेटाबेस की सिक्योरिटी को बे्रक कर लोगों का डाटा निकाला जाता है। बहुत बार डेटाबेस एडमिन की मिलीभगत से डाटा लीक हो जाता है। जानकारी के अनुसार यह डाटा डीप वेब पर बिक रहा है। विदेशी हैकर्स इसे खरीदकर वारदात को अंजाम देते हैं।

Ankit Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned