जिले के हर ब्लॉक के 5 गांवों को ओडीएफ के रूप में किया जाएगा विकसित

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण का द्वितीय चरण
जिला कलेक्टर्स एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को 2 जनवरी तक स्वच्छता गतिविधियों का मैप तैयार करने के निर्देश
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने दिए निर्देश
ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन की प्रभावी क्रियान्विति का प्रयास

By: Rakhi Hajela

Published: 18 Dec 2020, 11:41 PM IST


जयपुर।
स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण का द्वितीय चरण के तहत प्रदेश के सभी जिला कलेक्टर्स एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को 2 जनवरी तक स्वच्छता गतिविधियों का मैप तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। जिससे जिले के हर ब्लॉक के 5 गांवों को ओडीएफ के रूप में विकसित किया जा सके। यह निर्देश अतिरिक्त मुख्य सचिव, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग रोहित कुमार सिंह ने दिए हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव की ओर से जारी निर्देशों के मुताबिक हर गांव के लिए ग्रामीण सहभागिता नियोजन दल में आवश्यक रूप से सरपंच, ग्राम विकास अधिकारी, कनिष्ठ तकनीकी सहायक, कनिष्ठ अभियन्ता एवं ब्लॉक समन्वयक को शामिल करना होगा। इसके साथ ही गांव में हर स्वच्छता गतिविधि जैसे कचरे एवं गंदे पानी के स्त्रोत, निस्तारण, कचरे का ढेर, ठहरा पानी, नाली ढलान आदि का आंकलन और चिह्निकरण किया जाएगा।
कार्यशाला में दिया गया प्रशिक्षण
गौरतलब है कि स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के दूसरे चरण के तहत ठोस एवं तरल कचरा प्रबन्धन गांव.गांव में प्रभावी रूप से क्रियान्वित करने के लिए 33 जिलों के जिला परियोजना समन्वयकों के लिए दो दिवसीय आमुखीकरण कार्यशाला का भी आयोजन किया गया था। जिससे वह स्वच्छता मैप संबधी सर्वेक्षण कार्य को अंजाम दे सकें। सिंह ने जिला परियोजना समन्वयकों को आश्वस्त किया कि इस कार्य में उनके समक्ष आने वाली हर समस्या का निदान किया जाएगा, साथ ही इस कार्य में संसाधनों की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी ।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned